नई दिल्ली, जेएनएन। कोरोना वायरस के बीच इंग्लैंड की टीम दूसरी टेस्ट सीरीज खेलने के लिए तैयार है। मैनचेस्टर के ओल्ड ट्रैफर्ड स्टेडियम में बुधवार से शुरू होने वाले तीन टेस्ट सीरीज के पहले मुकाबले में पाकिस्तान की टीम इंग्लैंड के खिलाफ अपना बेहतर रिकॉर्ड बरकरार रखने उतरेगी।

पाकिस्तान ने पिछले 10 सालों में इंग्लैंड के खिलाफ सभी टेस्ट सीरीज जीती हैं। इससे पहले इंग्लैंड टीम ने जुलाई 2010 में पाकिस्तान के खिलाफ 3-1 से घरेलू टेस्ट सीरीज जीती थी। तब से अब तक 10 साल में दोनों के बीच चार टेस्ट सीरीज खेली गईं।

इनमें 2012 और 2015 में पाकिस्तान ने दो सीरीज जीतीं, जो यूएई में हुई थी। जबकि इंग्लैंड में खेली गईं 2016 और 2018 में दो टेस्ट सीरीज ड्रॉ रही थीं। कोरोना महामारी के बीच 117 दिन बाद अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट की वापसी आठ जुलाई को इंग्लैंड से ही हुई थी।

इसी महीने इंग्लिश टीम ने वेस्टइंडीज को 2-1 से हराया था। इसी विजेता टीम को इंग्लैंड बोर्ड ने पाकिस्तान के खिलाफ सीरीज में भी बरकरार रखा है। इस सीरीज की चार पारियों में तेज गेंदबाज स्टुअर्ट ब्रॉड ने 16 विकेट लेकर करियर के 500 टेस्ट विकेट पूरे किए थे।

इंग्लैंड में चुनौती को तैयार पाकिस्तान :टेस्ट सीरीज की बात की जाए तो दोनों टीमें अब तक 25 बार आमने-सामने आई हैं। इस दौरान इंग्लैंड ने नौ सीरीज जीती, आठ में उसे हार मिली। आठ सीरीज ड्रॉ खेली गईं। वहीं, इंग्लैंड ने घर में 15 में से सात टेस्ट सीरीज में पाकिस्तान को हराया है। तीन में टीम को हार मिली, जबकि पांच सीरीज ड्रॉ रही हैं।

इंग्लैंड : जो रूट (कप्तान), जेम्स एंडरसन, जोफ्रा आर्चर, डोमिनिक बेस, स्टुअर्ट ब्रॉड, रोरी ब‌र्न्स, जोस बटलर, जैक क्रॉले, सैम कुर्रन, ओली पोप, डॉम सिबले, बेन स्टोक्स, क्रिस वोक्स और मार्क वुड।

पाकिस्तान : अजहर अली (कप्तान), बाबर आजम, आबिद अली, असद शफीक, फवाद आलम, इमाम उल हक, काशिफ भट्टी, मुहम्मद अब्बास, मुहम्मद रिजवान, नसीम शाह, सरफराज अहमद, शादाब खान, शाहीन शाह अफरीदी, शान मसूद, सोहेल खान और यासिर शाह।

 

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस