नई दिल्ली, जेएनएन। इंग्लैंड और ऑस्ट्रेलिया के बीच खेली गई पांच मैचों की वनडे सीरीज के दौरान एक से बढ़कर एक क्रिकेट रिकॉर्ड बने। इस पूरे सीरीज के दौरान कई ऐसे वाकये हुए जिसे लंबे वक्त तक याद रखा जाएगा। पर इस सीरीज के आखिरी मैच में वेस्टइंडीज की टीम ने इंग्लैंड का वो हार कर दिया जिसके बारे में इंग्लिश टीम ने शायद ही सोचा है। चौथे वनडे में इंडीज के खिलाफ 418 रन का बड़ा स्कोर खड़ा करने वाले इंग्लैंड की टीम को पांचवें वनडे में सिर्फ 113 रन पर ही ऑल आउट होना पड़ा और इस मैच को वेस्टइंडीज के 12.1 ओवर में 227 गेंद शेष रहते सात विकेट से जीत लिया। 

वेस्टइंडीज की इतनी बड़ी जीत दिलाने में टीम के गेंदबाज ओशाने थॉमस की मुख्य भूमिका रही। ओशाने ने इस मैच में सिर्फ 5.1 ओवर गेंदबाजी की और 21 रन देकर पांच बल्लेबाजों को पवेलियन का रास्ता दिखा दिया। ओशाने ने इंग्लैंड के कप्तान इयॉन मोर्गन, जोस बटलर, मोइन अली, क्रिस वोक्स और टॉम कुर्रन जैसे दिग्गज बल्लेबाजों को आउट किया। ओसानो की बेहतरीन गेंदबाजी के दम पर ही वेस्टइं डीज इंग्लैंड को सिर्फ 113 रन पर ऑल आउट कर दिया। कमाल की बात ये रही कि इस मैच में एक वक्त पर इंग्लैंड का स्कोर 111 रन पर पांच विकेट था लेकिन 113 रन पर पूरी टीम पवेलियन लौट चुकी थी। 22 वर्षीय ओशाने ने ऐसा कमाल कर दिया कि हर जगह उनकी चर्चा हो रही है। इस मैच में वेस्टइंडीज का छठा और सातवां विकेट 111 रन के स्कोर पर गिरा और 113 रन के स्कोर पर टीम का आठवां, नौवां और दसवां विकेट गिर गया। 

हालांकि ओशानो का साथ टीम के अन्य गेंदबाजों ने भी भरपूर दिया और कप्तान जेसन होल्डर व कार्लोस ब्रेथवेट ने भी दो-दो विकेट लिए। एक विकेट शेल्डन कॉटरेल के नाम भी रहा। इस मैच में वेस्टइंडीज की टीम को जीत के लिए 114 रन का लक्ष्य मिला था जिसे टीम ने आसानी से हासिल कर लिया और वनडे सीरीज 2-2 से बराबर कर ली। इससे पहले वेस्टइंडीज ने टेस्ट सीरीज में इंग्लैंड को 2-1 से हराया था। 

Posted By: Sanjay Savern