सेंचुरियन, जेएनएन। डेल स्टेन दक्षिण अफ्रीका के सबसे सफल टेस्ट गेंदबाज बन गए हैं। स्टेन ने बुधवार को पाकिस्तान के साथ यहां जारी टेस्ट मैच के पहले दिन हासिल की। स्टेन को अपने ही देश के शॉन पोलाक के 421 विकेटों के रिकार्ड को तोड़ने के लिए एक विकेट की दरकार थी। स्टेन ने सेंचुरियन टेस्ट के पहले दिन फखर जमां का विकेट लेते हुए यह रिकॉर्ड हासिल कर लिया। स्टेन ने 12 रन बनाने वाले फखर जमां को तीसरी स्लिप में कैच कराके 422वां टेस्ट विकेट हासिल किया।

स्टेन ने 89वां टेस्ट मैच खेलते हुए 422 विकेट अपने नाम किए हैं जबकि पोलाक ने 108 टेस्ट मैचों में 421 विकेट चटकाए हैं। पोलाक ने ये रिकॉर्ड 10 साल पहले 2008 में बनाया था। पोलाक ने 2008 में अपना आखिरी टेस्ट मैच वेस्टइंडीज़ के खिलाफ डरबन में खेला था और इसी टेस्ट में उन्होंने 421 विकेट पूरे किए थे। लेकिन अब स्टेन ने पोलाक के इस रिकॉर्ड को तोड़ दिया है। स्टेन ने 26 बार पारी में पांच विकेट और पांच बार मैच में 10 विकेट लिए हैं। पोलाक 16 बार पारी में पांच विकेट ले चुके हैं तथा एक बार मैच में 10 विकेट लिए हैं।

इस तरह स्टेन दक्षिण अफ्रीका के सफलतम टेस्ट गेंदबाज बनने के अलावा विश्व क्रिकेट में सबसे अधिक विकेट लेने वाले गेंदबाजों की सूची में 11वें स्थान पर हैं। स्टेन से ऊपर रिचर्ड हेडली (431), स्टुअर्ट ब्रॉड (433), कपिल देव (434), कर्टनी वॉल्श (519), ग्लेन मैक्ग्रा (563), जेम्स एंडरसन (565), अनिल कुम्बले (619), शेन वॉर्न (708) और मुथैया मुरलीधरन (800) हैं।

स्टेन टेस्ट क्रिकेट में सबसे अधिक विकेट लेने वाले तेज गेंदबाजों की सूची में सातवें स्थान पर हैं।

इतिहास रचने से पहले स्टेन ने कहा कुछ ऐसा

 

इस टेस्ट मैच के शुरू होने से पहले स्टेन को ये रिकॉर्ड तोड़ने के लिए एक विकेट की जरुरत थी और उन्होंने फखर जमां को आउट कर ये उपलब्धि हासिल कर ली। इस मैच के शुरू होने से पहले जब उनसे इस विकेट के बारे में पूछा गया तो उन्होंने कहा, 'मैं बस खेलना चाहता हूं। मैं इस एक विकेट के बारे में पूछे जा रहे सवाल का जबाव बीते दो साल से दे रहा हूं। उस एक विकेट के अलावा मुझे काफी विकेट लेने हैं। मैंने अपने आप को पोलाक से आगे जाने के लिए बचा के नहीं रखा है। आखिरकार और भी कई बड़े लक्ष्य मेरे पास हैं जिन्हें मुझे हासिल करना है। अगर मैं पोलाक को पीछे छोड़ देता हूं तो यह मेरे लिए अच्छी बात होगी। इस तरह के मुकाम हासिल करना सम्मान की बात होती है, लेकिन जब मैं ऐसा करूंगा तो इसके बाद मैं दोबारा अपने मार्क पर आऊंगा और एक और विकेट लेने की कोशिश करूंगा।'

क्रिकेट की खबरों के लिए यहां क्लिक करें

 

अन्य खेलों की खबरों के लिए यहां क्लिक करें

Posted By: Pradeep Sehgal

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप