मोदी सरकार - 2.0 के 100 दिन

नई दिल्ली, जेएनएन। वेस्टइंडीज क्रिकेट टीम के ओपनर बल्लेबाज क्रिस गेल क्रिकेट फैंस की नजरों में अपनी छवि खुद खराब करते जा रहे हैं। गेल उम्र के जिस पड़ाव पर हैं यहां से अगर उन्हें लगता है कि वो वैसा ही क्रिकेट खेल सकते हैं जैसा कि वो दस साल पहले खेल रहे थे, लेकिन सच तो ये है कि अब गेल में पहले वाली बात नहीं रह गई है। एक बार फिर से गेल ने अपनी रिटायरमेंट की खबर को झूठा साबित कर दिया और कहा कि अभी आप इंतजार करें मैं इसके बारे में अगली सूचना खूद ही दूंगा। 

अब जरा पीछे की तरफ चलते हैं। क्रिस गेल ने विश्व कप 2019 से पहले खुद ही कहा था कि वो इस विश्व कप के बाद क्रिकेट को अलविदा कह देंगे। फिर विश्व कप भी शुरू हो गया और इसके खत्म होने के कुछ ही समय पहले उनका ये बयान आता है कि अब वो भारत के खिलाफ अपने देश में होने वाले क्रिकेट सीरीज के बाद क्रिकेट को अलविदा कहेंगे। टीम इंडिया के खिलाफ क्रिस गेल टेस्ट सीरीज खेलना चाहते थे, लेकिन चयनकर्ताओं ने उन्हें टीम में नहीं चुना। उन्होंने ये भी हवाला दिया कि वो इसके बाद रिटायरमेंट ले लेंगे, लेकिन सेलेक्टर्स ने उनकी इस बात को दरकिनार करके नए खिलाड़ियों को मौका दिया। 

गेल को भारत के खिलाफ टी 20 सीरीज में टीम में जगह नहीं मिली और ना ही टेस्ट टीम में। उन्हें वनडे टीम में जरूर शामिल किया गया और हो सकता है वेस्टइंडीज बोर्ड भी ये चाह रही हो कि गेल को सम्मानपूर्वक विदाई मिले। पर यहां पर भी गेल ने पलटी मार ली और अपने जाने-माने अंदाज में हंसते हुए अपने संन्यास की खबर को नकार दिया। वैसे तीसरे वनडे की बात करें तो गेल ने अच्छी पारी खेली और उनकी पारी का अंत होने के बाद टीम इंडिया के खिलाड़ियों ने उन्हें बधाई दी। गेल ने भी सबका अभिवादन स्वीकार किया और पवेलियन लौटते हुए बल्ले में हेलमेट लगाकर कुछ संकेत तो दिए। तो क्या गेल ने ये सब मजाक में किया था जैसा कि वो करते नहीं हैं। सबको लगा कि ये उनका आखिरी वनडे मैच है, लेकिन उन्होंने अब संन्यास के लिए मना कर दिया। 

वैसे भी गेल का प्रदर्शन इस वनडे सीरीज में वैसा रहा नहीं कि जिस पर गर्व किया जा सके। विश्व कप में लगातार फेल रहे गेल ने भारत के खिलाफ आखिरी वनडे में अच्छा खेला और उनके पास सम्मानपूर्वक विदाई लेने का गोल्डन चांस था जिसे उन्होंने ना सिर्फ मिस किया बल्कि झूठे भी साबित हो गए। यानी अब गेल की बात पर शायद ही कोई भरोसा करे। यहां पर सबसे बड़ी बात ये है कि वेस्टइंडीज क्रिकेट बोर्ड उन्हें टेस्ट और टी 20 टीम में तो जगह शायद ही दे। वनडे में भी वो कुछ खास नहीं कर पा रहे हैं तो इस प्रारूप में भी उनका पत्ता कटना तय माना जा रहा है, तो क्या सच में उन्होंने एक गोल्डन चांस मिस कर दिया। 

वैसे अपनी रिटायरमेंट के लिए गेल किस बात का इंतजार कर रहे हैं ये समझ पाना मुश्किल है। गेल लगभग 40 वर्ष के हो चुके हैं और उनके खेल में अब उम्र का असर साफ नजर आता है। गेल ने क्रिकेट में कई कामयाबियां अपने नाम की है। टेस्ट क्रिकेट में तीहरा शतक, वनडे क्रिकेट में दोहरा शतक, टी 20 में शतक लगाने वाले वो दुनिया के पहले बल्लेबाज हैं। वेस्टइंडीज की तरफ से वो सबसे ज्यादा वनडे खेलने वाले खिलाड़ी, वनडे में सबसे ज्यादा रन, वनडे में सबसे ज्यादा शतक, वनडे में सबसे ज्यादा छक्के उनके नाम पर हैं। वो वेस्टइंडीज की तरफ से सबसे ज्यादा वनडे यानी 300 से ज्यादा वनडे खेलने वाले खिलाड़ी बन चुके हैं। इसके अलावा भी गेल के नाम पर कई कामयाबी दर्ज है। गेल को एक महान क्रिकेटर कहा जाता है, लेकिन वो बार-बार जिस अंदाज में पहले संन्यास की बात कहते हैं और फिर उससे पलट जाते हैं वो उनकी छवि को खराब कर रहा है। गेल ने कुछ दिन पूर्व कहा था कि वो पांच वर्ष तक और खेलना चाहते हैं इस पर वेस्टइंडीज के कुछ पूर्व खिलाड़ियों ने कहा था कि गेल की ये बातें बेवकूफी भरी है और वो अपनी महानता खोते जा रहे हैं। 

Posted By: Sanjay Savern

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप