नई दिल्ली, जेएनएन। एडिलेड टेस्ट के पहले दिन अगर चेतेश्वर पुजारा नहीं होते तो भारतीय टीम की स्थिति काफी खराब हो जाती। पहले टेस्ट के पहले दिन एक तरफ जहां भारतीय बल्लेबाज कंगारू गेंदबाजों के सामने धराशाई होते दिखे तो दूसरी तरफ पुजारा धैर्य से खेलते रहे और बेहतरीन 123 रन बनाए। पुजारा की इस पारी के दम पर भारतीय टीम पहले दिन 250 के सम्मानजनक स्कोर तक पहुंच पाई। इस मैच में पुजारा अच्छी लय में नजर आ रहे थे और शॉट्स भी खेल रहे थे लेकिन वो पहले दिन की आखिरी गेंद पर रन आउट हो गए। भारत की तरफ से टेस्ट क्रिकेट में पुजारा सबसे ज्यादा बार रन आउट होने के मामले में तीसरे स्थान पर पहुंच गए हैं। 

टेस्ट क्रिकेट में आठ बार रन आउट हो चुके हैं पुजारा

पुजारा ने ऑस्ट्रेलिया में अपने टेस्ट करियर का पहला शतक जरूर लगाया लेकिन वो क्रिकेट से सबसे बड़े प्रारूप में आठवीं बार रन आउट हुए। अब पुजारा टेस्ट क्रिकेट में भारतीय बल्लेबाज के तौर पर सबसे ज्यादा बार रन आउट होने के मामले में तीसरे नंबर पर आ चुके हैं। पुजारा अब तक आठ बार रन आउट हो चुके हैं और उनसे आगे राहुल द्रविड़ (13 बार) और सचिन तेंदुलकर (09 बार) ही हैं। 

पुजारा की बेमिसाल पारी

पहले टेस्ट मैच की पहली पारी में पुजारा ने अपनी टीम के लिए जो पारी खेली वो बेमिसाल थी। एक वक्त पर भारतीय टीम ने 127 रन पर छह विकेट गंवा दिए थे और संघर्ष कर रही थी। ऐसा लग रहा था कि टीम का स्कोर शायद 200 तक भी नहीं पहुंच पाएगा लेकिन पुजारा ने पांचवें विकेट के लिए रोहित शर्मा के साथ 45 रन, छठे विकेट के लिए रिषभ पंत के साथ 41 रन, सातवें विकेट के लिए अश्निन के साथ 62 रन और नौवें विकेट के लिए शमी के साथ 40 रन की साझेदारी कर टीम के स्कोर को 250 तक पहुंचाया। उन्होंने 246 गेंदों का सामना करते हुए 123 रन बनाए। 

क्रिकेट की खबरों के लिए यहां क्लिक करें

Posted By: Sanjay Savern