मोदी सरकार - 2.0 के 100 दिन

अभिषेक त्रिपाठी, नई दिल्ली। भारतीय चयनकर्ता ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ सीमित ओवरों की सीरीज के लिए विश्व कप को ध्यान में रखकर शुक्रवार को मुंबई में टीम का चयन करेंगे। अतिरिक्त बोझ के कारण न्यूजीलैंड दौरे से बाहर रहे तेज गेंदबाज जसप्रीत बुमराह की घरेलू वनडे व टी-20 सीरीज में वापसी होगी जबकि न्यूजीलैंड में सभी पांच वनडे व तीन टी-20 खेलने वाले दूसरे तेज गेंदबाज भुवनेश्वर कुमार को कुछ मैचों में आराम दिया जाएगा।

भारतीय टीम ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ 24 फरवरी से शुरू होने वाली दो टी-20 मैचों की सीरीज के बाद पांच वनडे खेलेगी। यह 30 मई से इंग्लैंड में शुरू होने वाले विश्व कप से पहले भारतीय टीम की आखिरी सीरीज होगी। बीसीसीआइ के एक शीर्ष अधिकारी ने कहा कि इतना तय है कि भुवी को आइपीएल से पहले आराम दिया जाएगा। उन्होंने न्यूजीलैंड में आठों मैच खेले हैं। अब कितने मैच के लिए उनको आराम मिलेगा यह चयनकर्ता आपस में बैठकर तय करेंगे।

विश्व कप के लिए कुछ नाम लगभग तय

चयनकर्ताओं ने विश्व कप के लिए 13 खिलाड़ियों की पहचान कर ली है। इनमें विराट कोहली, शिखर धवन, रोहित शर्मा, अंबाती रायुडू, महेंद्र सिंह धौनी, केदार जाधव, हार्दिक पांड्या, विजय शंकर, युजवेंद्र सिंह चहल, कुलदीप यादव, भुवनेश्वर कुमार, जसप्रीत बुमराह और मुहम्मद शमी शामिल हैं। जहां तक ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ घरेलू सीरीज की बात है तो कप्तान कोहली और तेज गेंदबाजी के अगुआ बुमराह अंतिम ड्रेस रिहर्सल के लिए वापसी करेंगे। वहीं रोहित शर्मा को टी-20 टूर्नामेंट में आराम दिया जा सकता है।

चयनकर्ताओं के 16 या 17 खिलाड़ियों के ही चयन करने की उम्मीद है। अंतिम दो स्थानों के लिए कम से कम चार दावेदार मैदान में हैं और यह इस पर निर्भर करता है कि टीम प्रबंधन किस तरह का संयोजन चाहता है। तेज गेंदबाजी विभाग में बुमराह, शमी और भुवनेश्वर का होना तय है ऐसे में विविधता प्रदान करने के लिए चयनकर्ता टीम में बायें हाथ के तेज गेंदबाज को रखना चाहेंगे। राजस्थान के युवा तेज गेंदबाज खलील ऑस्ट्रेलिया और न्यूजीलैंड में खेले थे और वह अच्छी दिशा में आगे बढ़ रहे हैं। उनादकट रणजी ट्रॉफी में अच्छा प्रदर्शन करने के बाद फिर से दौड़ में शामिल हो गए हैं। उनकी अगुआई में सौराष्ट्र रणजी फाइनल में पहुंचा था। उनादकट परिपक्व गेंदबाज हैं। वह अब पहले से अधिक विविधतापूर्ण और तेज गेंदबाज हैं। आइपीएल को ध्यान में रखें तो वह सबसे अनुभवी गेंदबाज भी हैं।

पंत और कार्तिक को लेकर माथापच्ची

पंत और कार्तिक में से किसी एक का चयन करने के लिए चयनकर्ताओं को माथापच्ची करनी पड़ेगी। ये दोनों ही अच्छे फिनिशर है। पंत को तीसरे सलामी बल्लेबाज के रूप में भी रखा जा सकता है। वह टीम को विस्फोटक शुरुआत दिलाने की भी क्षमता रखता है। राहुल भी इस स्थान के लिए दौड़ में हैं। उन्हें टीम प्रबंधन का समर्थन भी हासिल है। ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ सीरीज से पता चलेगा कि रिषभ पंत और दिनेश कार्तिक में से कौन खिलाड़ी विशेषज्ञ बल्लेबाज और दूसरे विकेटकीपर के रूप में इंग्लैंड जाएगा। लोकेश राहुल भी भारत-ए की तरफ से इंग्लैंड लायंस के खिलाफ दो अच्छी पारियां खेलने के बाद तीसरे सलामी बल्लेबाज के स्थान के लिए दौड़ में शामिल हो गए हैं।

Posted By: Sanjay Pokhriyal

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप