नई दिल्ली, जेएनएन। टीम इंडिया वर्ल्ड कप 2019 से बाहर हो चुकी है और वो रविवार को स्वदेश लौटेगी। टीम की इस हार के बाद टीम में कई बदलाव हो सकते हैं साथ ही साथ बीसीसीआई में भी बड़े बदलाव होंगे। आने वाले कुछ वक्त में टीम इंडिया के सपोर्ट स्टाफ से लेकर सेलेक्शन कमेटी में भी बदलाव देखने को मिल सकते हैं। भारतीय क्रिकेट टीम के कोचिंग स्टाफ व सेलेक्शन कमेटी का अनुबंध खत्म होने वाला है ऐसे में भारतीय क्रिकेट बोर्ड नए सिरे से चयन कर सकती है। वहीं दूसरी तरफ 22 अक्टूबर को बीसीसीआई के चुनाव होंगे। चुनाव के बाद सुप्रीम कोर्ट द्वारा गठित सीओए का कार्यकाल भी समाप्त हो जाएगा। वहीं बीसीसीआई के चुनाव के बाद 23 सितंबर तक बोर्ड के सभी राज्य संघों के चुनाव होने हैं ऐसे में कई परिवर्तन देखने को मिल सकते हैं। 

भारतीय क्रिकेट टीम के कोच रवि शास्त्री का अनुबंध विश्व कप ही था, लेकिन इसके बढ़ाकर वेस्टइंडीज दौरे तक कर दिया गया। उसके बाद वो टीम को मुख्य कोच बने रहेंगे या नहीं इस पर भी सवाल है। माना तो ये जा रहा है कि उनका अनुबंध नहीं बढ़ाया जाएगा। वो कोच पद के लिए फिर से आवेदन कर सकते हैं। टीम इंडिया का कोच चुनने का फैसला सीएसी करती है जिसमें पिछली बार सचिन तेंदुलकर, सौरव गांगुली व वीवीएस लक्ष्मण शामिल थे। इनमें से गांगुली व लक्ष्मण अब सीएसी का हिस्सा नहीं हैं। दोनों ने हितों के टकराव मामले पर खुद को सीएसी से अलग कर लिया था। 

विश्व कप में भरत अरुण की देखरेख में भारतीय बल्लेबाजों जबकि आर श्रीधर की देखरेख में भारतीय फील्डरों ने अच्छा प्रदर्शन किया था। वहीं बल्लेबाजी कोच संजय बांगड़ पर सवाल उठ रहे हैं। खास तौर पर सेमीफाइनल में हार के बाद यही कहा जा रहा है कि वो अपनी जिम्मेदारी सही तरीके से नहीं निभा पाए। टीम में नंबर चार की समस्या बनी रही और इसे संजय बांगड़ नहीं सुलझा पाए। माना जा रहा है कि बांगड़ की छुट्टी हो सकती है। 

भारतीय क्रिकेट टीम की चयन समिति का कार्यकाल अक्टूबर में होने वाली बोर्ड की आम सभा तक ही है। यानी ये तय है कि इसमें भी बदलाव होंगे। अगले वर्ष टीम इंडिया को ऑस्ट्रेलिया में होने वाले टी 20 विश्व कप में हिस्सा लेना है ऐसे में काफी कुछ बदलाव देखने को मिल सकते हैं। 

Posted By: Sanjay Savern

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप