नई दिल्ली, प्रदीप सहगल। चैंपियंस ट्रॉफी का टूर्नामेंट शुरू हो गया है। लेकिन इस टूर्नामेंट के साथ भारतीय क्रिकेट की एक ऐसी कड़वी याद जुड़ी हुई है, जिसे भारतीय फैंस कभी भी नहीं भुला पाएंगे। बात 11 साल पुरानी है, साल 2006 की चैंपियंस ट्रॉफी में कुछ ऐसा हो गया था, जिसे भारतीय फैंस भुलाना तो चाहते हैं, लेकिन चाहकर भी भुला नहीं पाते हैं।

क्या हुआ था 2006 में ?

साल 2006 में चैंपियंस ट्रॉफी का टूर्नामेंट वेस्टइंडीज़ और ऑस्ट्रेलिया के बीच खेला गया और ऑस्ट्रेलिया ने कैरेबियाई टीम को हराकर पहली बार इस खिताब पर कब्ज़ा जमाया, लेकिन जीत के नशे में चूर ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ियों ने कुछ ऐसा कर दिया, जिसे पूरा हिंदुस्तान कभी भी नहीं भुला पाएगा। दरअसल चैंपियंस ट्रॉफी जीतने के बाद ऑस्ट्रेलियाई कप्तान रिकी पॉन्टिंग को ये ट्रॉफी उस वक्त के बीसीसीआइ अध्यक्ष शरद पवार को सौंपनी थी। ऑस्ट्रेलियाई कप्तान मंच पर गए और उन्होंने पवार को उंगली का इशारा करते हुए उनसे ट्रॉफी मांगी। इतने से ही ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ियों का पेट कहां भरने वाला था। ट्रॉफी लेने के बाद ऑस्ट्रेलियाई टीम के बल्लेबाज़ डेमियन मार्टिन ने शरद पवार को स्टेज से धक्का देते हुए उन्हें नीचे जाने को कहा।

  (देखें इस शर्मनाक घटना का वीडियो)

  (वीडियो साभार- यू ट्यूब)

कंगारुओं की हुई थी फजीहत

वर्ल्ड चैंपियन ऑस्ट्रेलियाई टीम के खिलाड़ियों की इस शर्मनाक हरकत के बाद दुनिया भर की मीडिया में खासी आलोचना हुई थी। हालांकि शरद पवार ने इस घटना को ज्यादा तूल नहीं दिया और उन्होंने कंगारू टीम के रवैये को बचकाना करार दिया। हालांकि विवाद बढ़ने पर बाद में रिकी पॉन्टिंग ने इस घटना के लिए शरद पवार से माफी मांग ली थी।

क्रिकेट की अन्य खबरों के लिए यहां क्लिक करें

खेल जगत की अन्य खबरों के लिए यहां क्लिक करें

Posted By: Pradeep Sehgal

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप