नई दिल्ली, पीटीआइ। बीसीसीआइ के संयुक्त सचिव अमिताभ चौधरी को बांग्लादेश के खिलाफ एक टेस्ट खेलने के लिए चयन समिति की बैठक में भाग लेने से रोक दिया गया। इस वजह से मंगलवार को चयन समिति की बैठक चार घंटे देरी से शुरू हुई। माना जा रहा है कि अमिताभ चौधरी की भी छुट्टी हो सकती है।

टीम इंडिया के चयन के लिए चयन समिति की बैठक मंगलवार को दोपहर 12 बजे से शुरू होनी थी। अमिताभ चौधरी को सुप्रीम कोर्ट द्वारा नियुक्त किए गए प्रशासकों के प्रमुख विदोद राय के हस्तक्षेप के बाद बैठक में भाग नहीं लेने दिया गया। वह बैठक में भाग लेने का इंतजार कर ही रहे थे कि उन्हें 12 बजे बताया गया कि योग्य पाए जाने पर ही वह इस बैठक में हिस्सा ले सकेंगे। इसके बाद उन्हें बैठक में भाग लेने से रोक दिया गया।

बाद में बीसीसीआइ के सीइओ राहुल जौहरी ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए यह बैठक ली। बीसीसीआइ के एक सूत्र के मुताबिक अमिताभ चौधरी ने दिल्ली में एक चयन समिति के वरिष्ठ सदस्य को फोन करके चयन के लिए कहा था। जैसे ही इसका पता चला बीसीसीआइ के नए प्रशासक विनोद राय और उनके साथियों ने उन्हें इस बैठक में हिस्सा लेने से रोक दिया।'

क्रिकेट की खबरों के लिए यहां क्लिक करें

बीसीसीआइ के इस सूत्र ने बताया कि मुंबई में मौजूद राहुल जौहरी ने बैठक की अध्यक्षता की। सूत्र ने कहा कि बीसीसीआइ के अधिकारी जब लंच के लिए गए तो उनके चेहरे से साफ झलक रहा था कि सब कुछ ठीक नहीं है। उसने बताया कि एक चयनकर्ता शरणदीप सिंह तो वहां मौजूद ही नहीं थे। बैठक शुरू होने का इंतजार कर रहे मीडियाकर्मियों को बताया गया कि बैठक तीन बजे शुरू होगी, लेकिन यह 3.30 बजे भी शुरू नहीं हो सकी।

इसके बाद शरणदीप सिंह को होटल में आते देखा गया, जहां उन्हें भी पता नहीं था कि बैठक कब शुरू होगी।

करीब चार बजे वह बैठक में शामिल होने गए।

मंगलवार की इस घटना से साफ हो गया है कि चौधरी को संभवत: बीसीसीआइ के संयुक्त सचिव के तौर पर काम करने से रोक दिया गया है। हालांकि, वह दुबई में होने वाली आइसीसी की बैठक में बीसीसीआइ के प्रतिनिधि के तौर पर हिस्सा लेंगे, क्योंकि उन्हें क्रिकेट की जानकारी है जो इनवेस्टमेंट बैंकर विक्रम लिमये के काम आएगी।

खेल की खबरों के लिए यहां क्लिक करें

Posted By: Bharat Singh

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस