नई दिल्ली, ऑनलाइन डेस्क। किसी भी खिलाड़ी के लिए टेस्ट क्रिकेट में डेब्यू करना आसान नहीं होता है। खुद को व्हाइट बॉल क्रिकेट में साबित करने के बाद कहीं जाकर टेस्ट खेलने का मौका मिलता है, लेकिन मुल्तान में पाकिस्तान के स्पिन गेंदबाज अबरार अहमद ने अपना ड्रीम टेस्ट डेब्यू किया है।

अबरार ने अपने डेब्यू टेस्ट पर एक दो नहीं बल्कि 7 विकेट लेकर उस इंग्लैंड टीम को बैकफुट पर धकेल दिया, जिन्होंने रावलपिंडी में पहले दिन रनों का पहाड़ खड़ा कर दिया था। अबरार की गेंदबाजी का ही नतीजा था कि इंग्लैंड की टीम टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करते हुए केवल 281 रन के स्कोर पर सिमट गया।

अबरार ने लिया डेब्यू मैच में किया कमाल

रावलपिंडी टेस्ट मैच में इंग्लैंड के बल्लेबाजों ने पाकिस्तान के गेंदबाजों की जो हालत की थी, उसको देखते हुए पाकिस्तान की टीम को एक ऐसे गेंदबाज की तलाश थी, जो इस बैजबॉल स्टाइल पर लगाम लगा सके। लेकिन उन्हें यह उम्मीद नहीं थी कि डेब्यूटांट अबरार उनके लिए यह काम कर देंगे। अबरार ने 22 ओवर की गेंदबाजी में 5.20 की इकोनॉमी से केवल 114 रन देकर 7 विकेट झटके।

पाकिस्तान के 13वें गेंदबाज बने

अबरार अहमद ने 7 विकेट लेकर अपना नाम उन खिलाड़ियों की सूची में लिखवा लिया है, जिन्होंने अपने डेब्यू पर ही 5 या इससे अधिक विकेट हासिल किया था। वह ऐसा करने वाले पाकिस्तान के 13वें गेंदबाज बन गए हैं। उन्होंने जैक क्राउली (19), बेन डकेट (63), जो रूट (8), ओली पोप (60), हैरी ब्रूक (9), बेन स्टोक्स (14) और विल जैक्स (0) को पवेलियन भेजा। इसमें से चार बल्लेबाज ऐसे हैं, जिन्होंने पहले मैच में सेंचुरी लगाई थी।

281 पर सिमटी इंग्लैंड

पहले टेस्ट के पहले ही दिन 500 से ज्यादा रन बनाकर वर्ल्ड रिकॉर्ड अपने नाम करने वाली इंग्लैंड की टीम मुल्तान की पिच पर लाचार नजर आई। इंग्लैड की तरफ से सर्वाधिक 63 रन बेन डकेट ने बनाए। उनके अलावा ओली पोप ने 60 और मार्क वुड ने 36 रन की पारी खेली।

Edited By: Sameer Thakur

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट