नई दिल्ली, जेएनएन। World cup 2019 आइपीएल के इस सीजन में अपनी टीम बैंगलोर के लिए अच्छी गेंदबाजी करने वाले टीम इंडिया के स्पिनर युजवेंद्र चहल पहली बार विश्व कप खेलेंगे। चहल पहली बार विश्व कप खेलने को लेकर काफी उत्साहित हैं। चहल इस वक्त अच्छी फॉर्म में हैं और वो अपनी इसी फॉर्म को इंग्लैंड में भी जारी रखना चाहते हैं। टीम इंडिया 22 मई को इंग्लैंड के लिए रवाना होगी और चहल इस टीम का हिस्सा बन कर बेहद उत्साहित हैं। विश्व कप के लिए इंग्लैंड जाने से पहले चहल ने कहा है कि भारतीय टीम में महेंद्र सिंह धौनी और विराट कोहली जैसे अनुभवी खिलाड़ी हैं और इन दोनों की वजह से टीम इंडिया विश्व कप जीतने की प्रबल दावेदार है। 

पहली बार भारतीय विश्व कप टीम का हिस्सा बनने वाले चहल ने कहा कि जिस टीम में विराट कोहली जैसा कप्तान और महेंद्र सिंह धौनी जैसा महान खिलाड़ी हो, तो उससे जाहिर हो जाता है कि वो टीम अच्छा प्रदर्शन जरूर करेगी। हमारी टीम की बल्लेबाजी क्रम काफी मजबूत है। टीम इंडिया के पास शिखर धवन व रोहित शर्मा जैसे ओपनर बल्लेबाज हैं तो मध्यक्रम की जिम्मेदारी संभालने के लिए विराट कोहली, लोकेश राहुल व धौनी जैसे धुरंधर मौजूद हैं। हमारी टीम के पास जसप्रीत बुमराह, मो. शमी और भुवनेश्वर कुमार जैसे तेज गेंदबाज हैं जिनकी वजह से हमारी गेंदबाजी आक्रमण काफी मजबूत दिखती है। भारतीय टीम के पास एक बार फिर से विश्व कप खिताब जीतने का बेहतरीन मौका है। 

युजवेंद्र चहल इंग्लैंड में खेल चुके हैं और वहां की कंडीशन के बारे में उन्होंने कहा कि मैं वहां खेल चुका हूं और मुझे वहां की हालाात के बारे में पता है। पिछले वर्ष यानी 2018 में जब मैं वहां गया था उस वक्त वहां की पिच पर स्पिनर्स को काफी मदद मिल रही थी। एक बार फिर से मुझे विश्वास है कि विश्व कप के दौरान स्पिनरों को वहां काफी मदद मिलने वाली है। चहल ने कहा कि मैं विश्व कप को लेकर काफी उत्साहित हूं। इस टूर्नामेंट के लिए मैंने काफी मेहनत की है। हर क्रिकेटर का सपना होता है कि वो अपने देश की तरफ से विश्व कप में शिरकत करे और मेरा ये सपना सच होने जा रहा है। मैं पहली बार विश्व कप खेलने जा रहा हूं और जाहिर तौर पर मुझ पर अच्छे प्रदर्शन का दबाव होगा पर मैं इसका सामना करने के लिए तैयार हूं। 

चहल के मुताबिक अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में वही सफल होता है जिसके पास धैर्य है। मैं शतरंज का खिलाड़ी हूं और मेरे अंदर धैर्य है। इसकी वजह से मुझे मैदान पर काफी मदद मिलती है। भारतीय टीम के स्पिन आक्रमण के बारे में कहा कि इसकी जिम्मेदारी मेरे और कुलदीप के हाथों में है। हम एक-दूसरे को समझते हैं और अपनी योजना के बारे में एक-दूसरे से बात करते हुए गेंदबाजी करते हैं। गेंदबाजी के दौरान टीम के सीनियर खिलाड़ियों की राय खास तौर पर धौनी और विराट की बातें हमारे बहुत काम आती है। 

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Sanjay Savern

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप