नई दिल्ली, आनलाइन डेस्क। साउथ अफ्रीका दौरे पर टीम इंडिया के जाने से पहले रोहित शर्मा को भारतीय टेस्ट टीम का उप-कप्तान बनाया गया था। अब विराट कोहली ने भारतीय टेस्ट टीम की कप्तानी से इस्तीफा दे दिया है ऐसे में कयास लगाया जा रहा है कि वो कप्तान बन सकते हैं। हालांकि कप्तान के दावेदार के तौर पर केएल राहुल और रिषभ पंत का नाम भी सामने आ रहा है। गावस्कर ने कुछ दिन पहले रिषभ पंत को टेस्ट कप्तान बनाने की वकालत की थी और अब उन्होंने बताया है कि आखिर क्यों रोहित शर्मा टेस्ट की कप्तानी के लिए सबसे बेस्ट विकल्प नहीं हैं। 

गावस्कर को लगता है कि रोहित शर्मा को टेस्ट कप्तान के तौर पर तब तक के लिए नियुक्त किया जा सकता है जब तक की किसी अन्य को ग्रूम नहीं कर लिया जाता है। यानी इस गैप को भरने के लिए उनका इस्तेमाल किया जा सकता है, लेकिन इसके लिए भी उन्हें अपनी फिटनेस पर काफी काम करना होगा जिससे वो इन दिनों लगातार परेशान हैं। गावस्कर ने स्पोर्ट्स तक पर बात करते हुए कहा कि रोहित के साथ फिटनेस से जुड़ी दिक्कतें हैं। इस वजह से आपको ऐसे खिलाड़ी की जरूरत है जो फिट रहे और सभी मैचों के लिए उपलब्ध रहे। आपको याद होगा कि श्रीलंका के एंजेलो मैथ्यूज को भी हैमस्ट्रिंग की समस्या थी और इसके साथ जब आप तेज दौड़ने की कोशिश करते हैं या फिर एक तेज सिंगल लेने की कोशिश करते हैं तो चोट फिर से उभर जाती है। 

गावस्कर ने आगे कहा कि अगर रोहित के साथ ऐसा हुआ तो भी आपको किसी और को कप्तान बनाना होगा। इसलिए बेहतर यही होगा कि किसी ऐसे खिलाड़ी को चुना जाए जिसे बाहरी चोट हो क्योंकि रोहित के साथ नियमित रूप से चोटिल होने का चक्र है। इस स्थिति में मुझे संदेह है कि उन्हें भारतीय टेस्ट कप्तान बनाया जाएगा। मुझे लगता है कि सभी प्रारूपों में खेलने वाले खिलाड़ी को ही कप्तान बनाया जाना चाहिए।

Edited By: Sanjay Savern