नई दिल्ली, आनलाइन डेस्क। भारतीय ओपनर बल्लेबाज रोहित शर्मा इंग्लैंड के खिलाफ पहले तीन टेस्ट मैचों में रन बनाने में सफल रहे हैं। वैसे तो वो कोई बड़ी पारी नहीं खेल पाए हैं, लेकिन रन बनाने के लिए वो उतना भी संघर्ष नहीं कर रहे हैं जिस तरह से विराट कोहली, रिषभ पंत, अजिंक्य रहाणे जूझ रहे हैं। पिछले तीन टेस्ट मैचों की छह पारियों में उन्होंने 36,12*,83,21,19,59 रन की पारी खेली है। वो जिस तरह का टेंपरामेंट दिखा रहे हैं टीम इंडिया के अन्य बल्लेबाजों को उससे कुछ सीखने की जरूरत है। 

रोहित शर्मा ने इंग्लैंड के खिलाफ अब तक तीन टेस्ट में 46 की औसत से 230 रन बनाए हैं और वो इस सीरीज में अब तक भारत की तरफ से सबसे ज्यादा रन बनाने के मामले में दूसरे नंबर पर हैं। रोहित शर्मा क्यों इंग्लैंड में सफल रहे हैं इसके बारे में टीम इंडिया के पूर्व क्रिकेटर आकाश चोपड़ा ने बताया। आकाश चोपड़ा ने अपने यूट्यूब चैनल पर बात करते हुए कहा कि, उन्होंने अपनी बल्लेबाजी में बड़ा बदलाव किया है और वो लगातार खुद को याद दिलाते रहते हैं कि, वो गेंद को अपने शरीर के करीब और बेहद सावधानी के साथ खेलेंगे साथ ही पिच-अप गेंद पर शाट लगाने की कोशिश नहीं करेंगे। उन्होंने इंग्लिश कंडीशन में खुद को शानदार तरीके से एडजस्ट कर लिया है और इससे वो सफल हो रहे हैं। 

आकाश चोपड़ा ने कहा कि, महान खिलाड़ी बनने के कई अलग-अलग पहलू होते हैं। पहला आप कितना लंबा जाते हैं यानी आप कितने दिन तक क्रिकेट खेल पाते हैं। दूसरा आपके आंकड़े कितने बेहतर हैं और तीसरा कि, आप अपने खेल के जरिए कितनों को प्रेरित कर पाते हैं। महान खिलाड़ी बनने के लिए परिस्थिति के साथ सामजस्य बिठाना भी अहम है। आप किसी भी महान खिलाड़ी को देखें तो उन्होंने कंडीशन के साथ खुद को ढ़ाला है और रन बनाए हैं। 

Edited By: Sanjay Savern