नई दिल्ली, जेएनएन। क्रिकेट के भगवान सचिन तेंदुलकर आज यानी 24 अप्रैल को अपना 46वां जन्मदिन मना रहे हैं। यूं तो क्रिकेट फैन्स मास्टर ब्लास्टर से जुड़ी लगभग सभी बातें जानते हैं, लेकिन बहुत कम लोगों को पता है कि पहली बार अखबार में सचिन का नाम गलती से छप गया था। सचिन की जिंदगी से जुड़ा ये किस्सा काफी मज़ेदार है। बात साल 1987 की है जब सचिन ने अपने करियर की शुरुआत ही की थी। उस वक्त मुंबई के अखबारों ने नियम बनाया था कि जो खिलाड़ी 30 रन से कम बनाएगा, उसका नाम मैच रिपोर्ट में नहीं छापा जाएगा। 

उसी दौरान एक स्थानीय मैच के दौरान सचिन ने नाबाद 24 रन बनाए। उनकी टीम मैच जीत गई, इसलिए आगे रन बनाने का मौका नहीं मिला। तब स्कोर बोर्ड बनाने वाले ने एक गलती कर दी, जिससे सचिन के रन बढ़ गए। स्कोरर ने एक्स्ट्रा के रन भी सचिन के खाते में जोड़ दिए। इस तरह सचिन के रन 30 से ज्यादा हो गए और उनका नाम अगले दिन अखबारों में छप गया। किसी ने इस पर ध्यान नहीं दिया, क्योंकि टीम मैच जीत गई थी, लेकिन सचिन की खुशी का ठिकाना नहीं था। उसके बाद से सचिन ने कभी मुड़कर नहीं देखा। यही नहीं सचिन ने भारतीय क्रिकेट को उस मुकाम तक पहुंचाया जो इससे पहले कोई न कर सका था।

इसके बाद सचिन तेंदुलकर ने पाकिस्तान के खिलाफ 15 नवंबर 1989 में टेस्ट में डेब्यू किया था। उस समय सचिन की उम्र 16 वर्ष 205 दिन थी। इन्होंने अपने करियर के दौरान कुल 200 टेस्ट मैच खेले। करियर में सबसे ज़्यादा टेस्ट मैच खेलने का रिकॉर्ड सचिन के ही नाम है। जिसमें उन्होंने 53.78 की औसत से 15921 रन बनाए, जिसमें नाबाद 248 रन सबसे ज़्यादा है। टेस्ट में सबसे ज़्यादा सेंचुरी भी सचिन के नाम हैं। उन्होंने कुल 51 शतक लगाए।

Posted By: Ruhee Parvez