नई दिल्ली, प्रेट्र। ऑस्ट्रेलियाई बल्लेबाज आसानी से भारतीय गेंदबाजों के लेग साइड के जाल में फंस गए, लेकिन भारतीय टीम के गेंदबाजी कोच भरत अरुण ने कहा कि इसकी रणनीति जुलाई में बनाई गई थी। ना सिर्फ तेज गेंदबाजों, बल्कि स्पिनरों ने भी ऑस्ट्रेलियाई बल्लेबाजी क्रम की नींव स्टीव स्मिथ और मार्नस लाबुशाने को लेग साइड में गेंद रखी और लेग साइड में ही फील्डर्स लगाए गए। 

भरत अरुण ने कहा कि यह पूरी रणनीति कोच रवि शास्त्री की थी। अरुण ने कहा कि शास्त्री ने मुझे जुलाई में फोन किया था और हम ऑस्ट्रेलियाई दौरे पर चर्चा कर रहे थे। हम ऑस्ट्रेलियाई बल्लेबाजों को ऑफ साइड में जगह नहीं देना चाहते थे। हमारा मानना था कि स्मिथ और लाबुशाने कट, पुल से ऑफ साइड में काफी रन बनाते हैं। ऐसे में रवि ने मुझे फोन किया था और इस पर एक पूरी रणनीति बनाने को कही थी।

उन्होंने कहा कि गेंदबाज ऑन साइड पर क्षेत्ररक्षक लगाकर लगातार शरीर पर गेंद कर रहे थे, जिससे बल्लेबाजों के लिए ऑन साइड पर शॉट लगाना मुश्किल हो गया। यह रणनीति हमारे लिए काम कर गई। इस रणनीति के बारे में कप्तान विराट कोहली को भी बताया गया था। इसी के बाद हमने एडिलेड से मेलबर्न तक यही रणनीति अपनाई।

आपको बता दें कि टीम इंडिया ने ऑस्ट्रेलिया दौरे पर मेजबान टीम को वनडे व टेस्ट सीरीज में हराया था जबकि टी20 सीरीज में उसे हार का सामना करना पड़ा था। इस दौरे पर टीम इंडिया के गेंदबाजों का प्रदर्शन शानदार रहा था। भारत ने एडिलेड टेस्ट में हार मिलने के बाद शानदार वापसी करते हुए ऑस्ट्रेलिया को मेलबर्न व ब्रिसबेन में हरा दिया था और सिडनी टेस्ट मैच ड्रॉ रहा था। इस शानदार प्रदर्शन की वजह से टीम इंडिया को चार मैचों की टेस्ट सीरीज में 2-1 से जीत मिली थी। अजिंक्य रहाणे की कप्तानी में टीम इंडिया ने पहली बार ऑस्ट्रेलिया में कोई टेस्ट सीरीज जीती। 

Ind-vs-End

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप