कोलंबो, एएनआइ। टीम इंडिया को श्रीलंका के खिलाफ तीन मैचों की टी20 सीरीज में मिली हार के बाद भारतीय टीम के कोच राहुल द्रविड़ ने कहा कि, इस सीरीज से भारतीय टीम के युवा बल्लेबाजों ने ये सीखा कि, सभी विकेट सपाट नहीं होती और उन्हें उन पिचों पर भी खेलने का हुनर सीखना होगा जहां रन बनने की संभावना कम होती है। युवा बल्लेबाजों के प्रदर्शन पर टिप्पणी करते हुए द्रविड़ ने कहा कि, मैं उनके प्रदर्शन से निराश नहीं हूं क्योंकि सभी युवा हैं। वो अपने अनुभव से सीखेंगे और इस तरह के कंडीशन और गेंदबाजी का सामना करने से सीखेंगे। श्रीलंका टीम की गेंदबाजी काफी अच्छी है। 

राहुल द्रविड़ ने भारतीय बल्लेबाजों के बारे में कहा कि, वे कुछ और रन बनाना चाहते होंगे। उन्हें यह सीखने को मिला कि हर पिच सपाट नहीं होगी। हमें इस तरह की पिचों पर 130-140 रन बनाना सीखना होगा। युवा खिलाड़ियों के लिए ये अच्छा सबक रहा। वे अपने प्रदर्शन का आत्ममंथन करके आगे बेहतर रणनीति बना सकेंगे। टी20 क्रिकेट में इस तरह के हालात अधिक नहीं मिलते लेकिन मिलने पर आपको बेहतर खेलना आना चाहिए। आपको बता दें कि, भारतीय टीम तीसरे टी20 में 8 विकेट पर 81 रन ही बना सके। भारत की ओर से कुलदीप यादव ने सबसे ज्यादा 23 रन बनाए। जवाब में श्रीलंका ने 15वें ओवर में तीन विकेट खोकर लक्ष्य हासिल कर लिया।

राहुल द्रविड़ ने कहा कि, इस दौरे पर हमारे बल्लेबाजों ने स्पिन हो या फिर तेज शानदार गेंदबाजी का सामना किया। हमारे खिलाड़ियों ने अच्छा खेल दिखाया, लेकिन अनुभव की कमी साफ तौर पर दिखी। इन खिलाड़ियों को अनुभव से ही ये पता लगेगा कि, कंडीशन के हिसाब से किस तरह के शॉट्स खेलने चाहिए। उन्होंने कहा कि, इस दौरे से युवा खिलाड़ियों को काफी कुछ सीखने को मिला और वो इसका फायदा जरूर उठाएंगे। 

Edited By: Sanjay Savern