नई दिल्ली, आनलाइन डेस्क। साउथ अफ्रीका के खिलाफ चल रहे वनडे सीरीज में टीम इंडिया की कप्तानी केएल राहुल कर रहे हैं। रोहित शर्मा इंजरी की वजह से साउथ अफ्रीका दौरे पर नहीं आए थे और इसकी वजह से ही राहुल को वनडे टीम का कार्यवाहक कप्तान नियुक्त किया गया। पहले वनडे मैच में टीम इंडिया को साउथ अफ्रीका के खिलाफ हार मिली और इस मैच के बाद राहुल ने कहा कि उन्हें काफी कुछ सीखने को मिला। जाहिर के अंतरराष्ट्रीय कप्तान पर उन्हें काफी कुछ सीखने की जरूरत है और प्रोटियाज के खिलाफ उनकी कुछ कमियां सामने भी निकलकर आई। 

अब साउथ अफ्रीका के खिलाफ भारत को दूसरा वनडे मैच शुक्रवार को है और इससे पहले पूर्व भारतीय ओपनर बल्लेबाज गौतम गंभीर व पूर्व साउथ अफ्रीकी तेज गेंदबाज डेल स्टेन ने केएल राहुल को कप्तानी को लेकर कुछ अहम टिप्स दिए। गंभीर ने कहा कि राहुल को मैदान पर थोड़ा आक्रामक होने की जरूरत है साथ ही फील्डिंग को लेकर भी उन्हें कुछ सावधानी बरतने की जरूरत है। उनकी खराब फील्ड सेटिंग की वजह से ही तेंबा बावुमा और वान डेर डुसेन के बीच 204 रन की साझेदारी हुई। 

गंभीर ने स्टार स्पोर्ट्स पर बात करते हुए कहा कि एक चीज जो मैं देखना चाहता था वो थी अटैकिंग फील्डिंग प्लेसमेंट, लेकिन ऐसा नहीं था। एडेन मार्कराम के आउट होने के बाद मुझे युजवेंद्र चहल के लिए स्लिप, गली और गली पाइंट की उम्मीद थी। जब अश्विन गेंदबाजी करने आए तो आप लेग स्लिप या शार्ट लेग लगा सकते थे। आप जरूरी नहीं कि बल्लेबाजों को आउट करना चाहते हैं। असली मसला ये है कि गेंदबाज उसके लिए निर्धारित क्षेत्र के अनुसार ही गेंदबाजी करेगा। 

वहीं डेल स्टेन ने राहुल की कप्तानी को लेकर कहा कि अगर आप देखें तो मुझे नहीं लगता है कि उन्हें कप्तानी में कुछ गलत किया। भारत और प्रोटियाज के बीच बस थोड़ा सा अंतर देखने को मिला। साउथ अफ्रीकी बल्लेबाजी गेंदबाजों पर हमला करते हुए रन बना रहे थे जबकि भारतीय क्रीज में ही जमे हुए थे। मुझे लगता है कि यहां पर केएल राहुल को कुछ सुधार करने की जरूरत है। 

Edited By: Sanjay Savern