नई दिल्ली, जेएनएन। सचिन तेंदुलकर और वीरेंद्र सहवाग दोनों अलग मिजाज के बल्लेबाज थे। सहवाग जहां अपने तूफानी अंदाज के लिए जाने जाते थे तो वहीं सचिन वक्त के मुताबिक अपनी बल्लेबाजी को गति देने में विश्वास रखते थे। ये दोनों ही खिलाड़ी बल्लेबाज के तौर पर काफी सफल रहे और जब तक खेलते रहे भारतीय क्रिकेट फैंस का जमकर मनोरंजन किया। हालांकि अगर बात सचिन और सहवाग की बल्लेबाजी की तुलना की हो तो शायद ही दोनों के बीच तुलना ठीक होगा, लेकिन पूर्व भारतीय ओपनर बल्लेबाज वसीम जाफर ने दोनों को लेकर अपनी राय रखी। 

वसीम जाफर में जितनी प्रतिभा थी वो उसकी उतनी चमक इंटरनेशनल सर्किट पर वो नहीं बिखेर पाए, लेकिन घरेलू स्तर पर फर्स्ट क्लास क्रिकेट में उन्होंने अपनी बल्लेबाजी का जलवा जमकर दिखाया। हाल ही में एक इंटरव्यू के दौरान वसीम जाफर से पूछा गया कि पू्र्व भारतीय क्रिकेटर सचिन तेंदुलकर और वीरेंद्र सहवाग में से कौन उनका फेवरेट बल्लेबाज है। मुंबई के इस बल्लेबाज ने जो उत्तर दिया वो चौंकाने वाला रहा क्योंकि उन्होंने वीरेंद्र सहवाग को सचिन से ज्यादा तरजीह दी। हालांकि उन्होंने इसके पीछे का कारण भी बताया कि सहवाग में  फैंस का मनोरंजन करने की जो काबिलियत थी उसकी वजह से वो उन्हें सचिन से ज्यादा पसंद करते हैं।  

40 साल की उम्र के बाद घरेलू क्रिकेट में दो दोहरे शतक लगाने वाले एकमात्र एशियाई बल्लेबाज वसीम जाफर ने बताया कि उनके इंटरनेशनल क्रिकेट करियर के दौरान उन्हें सबसे ज्यादा ब्रेट ली का सामना करने में दिक्कत हुई। हालांकि उन्हें शोएब अख्तर और ब्रेट ली के तौर पर दो विकल्प दिए गए थे, लेकिन उन्होंने ब्रेट ली को अख्तर से ज्यादा बेहतर गेंदबाज बताया।

आइसीसी द्वारा गेंद पर लार के इस्तेमाल को बैन किए जाने के बारे में वसीम ने कहा कि ये गेंदबाजों के लिए काफी मुश्किल होने जा रहा है क्योंकि गेंद को चमकाने के कोई अन्य तरीका उनके पास नहीं है। उन्होंने ये भी कहा कि इसका फायदा पूरी तरह से बल्लेबाजों को मिलेगा और उनके लिए खेलना और ज्यादा आसान हो जाएगा। 

Posted By: Sanjay Savern

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस