नई दिल्ली, एएनआइ। भारतीय क्रिकेट टीम के युवा ऑलराउंडर वाशिंगटन सुंदर ने कहा कि, अगर मुझे कभी भारत के लिए टेस्ट क्रिकेट में ओपनिंग करने का मौका मिलता है तो ये मेरे लिए वरदान होगा। मुझे लगता है कि, मैं इसे एक चुनौती की तरह लूंगा जैसा कि कोच रवि शास्त्री ने अपने खेल के दिनों में किया था। सुंदर टीम के कोच रवि शास्त्री की ड्रेसिंग रूप में दी गई दृढ़ता और प्रतिबद्धता की सीख से काफी उत्साहित हैं और वो किसी भी तरह की चुनौती का सामना करने के लिए तैयार हैं। 21 साल के सुंदर भारत अंडर 19 टीम में ओपनिंग कर चुके हैं और इसके बाद उन्होंने अपनी स्पिन गेंदबाजी पर ध्यान देते हुए भारतीय टी20 टीम में जगह बनाई।  

उन्होंने कहा कि, रवि सर ने हमें खेल के अपने दिनों की प्रेरणादायी बातें बतायी। जैसे कि कैसे उन्होंने विशेषज्ञ स्पिनर के तौर पर डेब्यू किया तथा चार विकेट लिए और न्यूजीलैंड के खिलाफ इस मैच में दसवें नंबर पर बल्लेबाजी की। सुंदर ने कहा कि और वहां से वह कैसे टेस्ट सलामी बल्लेबाज बने और उन्होंने कैसे अपने जमाने के सभी शीर्ष तेज गेंदबाजों का सामना किया। मैं भी उनकी तरह टेस्ट मैचों में पारी की शुरुआत करना पसंद करूंगा। उनका मानना है कि टेस्ट टीम में आए किसी युवा खिलाड़ी के लिए किसी बाहरी खिलाड़ी से प्रेरणा लेने की जरूरत नहीं है क्योंकि भारतीय ड्रेसिंग रूम में ही कई आदर्श खिलाड़ी हैं।

सुंदर ने कहा कि, एक युवा होने के नाते जब मैं किसी से प्रेरणा लेना चाहता हूं तो मुझे अपने ड्रेसिंग रूम में ही इतने अधिक आदर्श खिलाड़ी मिल जाते हैं। विराट कोहली, रोहित शर्मा, अजिंक्य रहाणे, आर अश्विन जैसे बेहतरीन प्रदर्शन करने वाले खिलाड़ी वहां हैं। ये खिलाड़ी हमेशा आपकी मदद के लिए तैयार रहते हैं। उन्हें सिमित ओवरों की सीरीज समाप्त होने के बाद नेट गेंदबाज के रूप में आस्ट्रेलिया में रहने के लिए कहा गया। इससे उन्हें लाल गेंद से नेट पर काफी गेंदबाजी करने को मिली।

Ind-vs-End

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप