नई दिल्ली, आनलाइन डेस्क। भारत और इंग्लैंड के बीच पांच मैचों की टेस्ट सीरीज का आखिरी मुकाबला कोविड-19 की वजह से कैंसल कर दिया गया। अब इस सीरीज का ये मुकाबला 2022 में खेला जाएगा जब भारतीय टीम इंग्लैंड दौरे पर जाएगी और उसके बाद ही इस टेस्ट सीरीज का नतीजा घोषित होगा। इस टेस्ट सीरीज में चार मुकाबले खेले जा चुके थे और भारतीय टीम 2-1 से आगे थी। अब पांचवां टेस्ट कैंसल तो कर दिया गया, लेकिन टीम इंडिया के पूर्व बल्लेबाज वीवीएस लक्ष्मण ने बताया कि क्यों इस रिजल्ट (2-1) के आधार पर भारत को इस टेस्ट सीरीज का विजेता घोषित कर देना चाहिए। 

लक्ष्मण ने टीओआइ के लिए लिखे एक कालम में लिखा कि, बीसीसीआइ की इस समस्या के समाधान के बाद अब आइसीसी को इस टेस्ट सीरीज को 2-1 से भारत के पक्ष में घोषित कर देना चाहिए क्योंकि कोविड के डर को ध्यान में रखते हुए इस टेस्ट मैच को कैंसल किए जाने की योजना बिल्कुल सही थी। अगर ऐसा नहीं किया जाता तो ये अन्य खिलाड़ियों व अधिकारियों के हित में नहीं होता। 

लक्ष्मण ने लिखा कि, उस डर के माहौल में आप खिलाड़ियों को कैसे मैदान पर उतार सकते हैं। यही नहीं इससे सिर्फ भारतीय टीम ही नहीं बल्कि विरोधी टीम के स्वास्थ्य पर भी असर पड़ सकता था। ऐसी हालत में इस टेस्ट को कैंसल किया जाना बिल्कुल सही फैसला था। हालांकि मुझे उन फैंस के लिए बुरा लग रहा है जिन्होंने इस मैच को देखने के लिए अपने पैसे खर्च किए थे और मुकाबले का इंतजार कर रहे थे। मुझे उम्मीद है कि, आइसीसी इस स्थिति को जरूर देखेगा और भारत को सीरीज में 2-1 से विजयी घोषित करेगा खासतौर पर तब जब बीसीसीआइ ने 2022 में भारत के इंग्लैंड दौरे पर एक टेस्ट मैच खेलने की पेशकश की है। 

लक्ष्मण ने आगे कहा कि, इस टेस्ट सीरीज का जिस तरह से अंत हुआ वो दुखद था। मैनचेस्टर में जिस तरह की परिस्थितियां बनीं उसके बाद ही ये फैसला किया गया। ऐसी स्थिति में ब्लेम गेम खेलना गलत है। पिछले डेढ़ साल से इस महामारी की वजह से दुनिया का कोई भी देश सुरक्षित नहीं है ऐसे में भारत को दोष देना गलत है। आइपीएल 2021 के पहले सीजन के अपने अनुभव से कह सकता हूं कि, अगर किसी टीम को कोई सदस्य पाजिटिव आता है तो यह असंभव है कि, आपमें डर पैदा ना हो। 

Edited By: Sanjay Savern