मोदी सरकार - 2.0 के 100 दिन

केपटाउन। भारतीय टी 20 टीम में सुरेश रैना ने एक वर्ष बाद वापसी की और दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ खेले जा चुके दोनों टी20 मैचों में अपनी बल्लेबाजी के जरिए अपनी आक्रामकता दिखाई। रैना के क्रिकेट करियर के लिए ये सीरीज काफी अहम है और वो इस मौके का फायदा उठाकर भारतीय टीम में अपनी जगह पक्की करना चाहते हैं। भारत को श्रीलंका में ट्राई सीरीज खेलनी है ऐसे में रैना को टीम में मौका मिल सकता है और वो जरूप इसमें अच्छा प्रदर्शन करना चाहेंगे।

रैना ने तीसरे टी 20 मैच से पहले कहा कि हमारे लिए सीरीज जीतना सबसे अहम है। भारतीय शीर्ष क्रम के बल्लेबाज अच्छा प्रदर्शन कर रहे हैं साथ ही मध्यक्रम में धौनी और मनीष पांडे अच्छा खेल रहे हैं। अपने बारे में उन्होंने कहा कि अब हमें ये देखना होगा कि मैं कहां फिट बैठता हूं। भारतीय टीम को आगे काफी मैच खेलने हैं, मैं किस प्रारूप में खेल रहा हूं  इससे ज्यादा अहम मैच जीतना है। अब मेरे लिए भारत का हर मैच महत्वपूर्ण है।  

रैना ने कहा कि मैं हमेशा टीम के लिए खेलता हूं और मेरा व्यक्तिगत प्रदर्शन इसके बाद आता है। मुझे जब भी मौका मिलता है मैं हमेशा ही अपना स्वाभाविक खेल खेलने की कोशिश करता हूं। खेल में आक्रामकता जरूरी है और विराट ने मुझ पर भरोसा दिखाया है। पिछले दो मैचों के पहले छह ओवरों में विरोधी टीम पर हमारा दबदबा रहा। पहला छह ओवर किसी भी टीम के लिए अहम होता है और इसमें खेलना काफी महत्वपूर्ण है। जब आपको बड़ा स्कोर खड़ा करना हो या फिर बड़े लक्ष्य को हासिल करना हो तो पहले छह ओवर में जोखिम लेना होता है। 

विराट के बारे में रैना ने कहा कि वो किसी भी गेम को हल्के में नहीं नहीं लेता और धौनी साथ में कोच रवि खिलाड़ियों को सलाह देते रहते हैं। हम इस दौरे का अंत जीत के साथ करना चाहते हैं। जब आप अच्छा खेल रहे होते हैं तो अंत भी अच्छा ही चाहते हैं। 

क्रिकेट की खबरों के लिए यहां क्लिक करें

खेल की खबरों के लिए यहां क्लिक करें

 

 

 

Posted By: Sanjay Savern

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप