नॉटिंघम, जेएनएन। पांच टेस्ट मैचों की सीरीज में पहला मुकाबला जीतने के बाद टीम इंडिया के कोच रवि शास्त्री ने कहा कि ये दुनिया की सर्वश्रेष्ठ विदेशी दौरा करने वाली भारतीय टीम बनने की दिशा में एक ईमानदार कोशिश है। हम अक्सर अपने देश में तो सीरीज जीत ही जाते हैं। हमारा प्रयास होगा कि हम विदेशी जमीन पर भी मैच जीतें। मुझे लगता है कि मौजूदा भारतीय टीम बेस्ट ट्रेवलिंग टीम बन सकती है। इसके साथ रवि शास्त्री ने भारतीय कप्तान विराट की तारीफ की।

'नहीं देखा कोहली जैसा क्रिकेटर'

उन्होंने कहा कि विराट कोहली इस खेल के प्रति काफी जुनूनी हैं। उसे बल्लेबाजी करना पसंद है। मैंने उसके जैसा क्रिकेटर नहीं देखा। मैं सचिन तेंदुलकर और विराट को एक जगह रखूंगा। एक क्रिकेटर के तौर पर दोनों एक तरह से चीजों को समझते हैं और देखते हैं। विराट चीजों को जिस तरह से समझता और देखता है, मैं आपसे वादा करता हूं कि वह इन दो पारियों को भूलकर आगे इस तरह से तैयारी करेगा जैसी अब तक उसने कोई रन बनाया ही न हो।

शास्त्री ने कहा कि पिछले चार साल से मैं टीम के साथ जुड़ा हुआ हूं। मैने विदेश में भारत की टेस्ट मैच में इससे शानदार जीत नहीं देखी है। हमने दक्षिण अफ्रीकी दौरे पर जोहानिसबर्ग में भी जीत हासिल की थी लेकिन वह पिच बेहद खराब थी और कंडीशन बिलकुल अलग थी। अगर एक साफ-सुथरे टेस्ट की बात करें तो यह सर्वश्रेष्ठ जीत है। यहां हमने केवल एक टेस्ट मैच जीता है, टेस्ट सीरीज हमारे नाम नहीं हुई है। अभी सीरीज में दो मैच होने बाकी हैं। हम सीरीज जीतने की दिशा में आगे मेहनत करेंगे।

क्रिकेट की खबरों के लिए यहां क्लिक करें

अन्य खेलों की खबरों के लिए यहां क्लिक करें 

Posted By: Pradeep Sehgal

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप