सेंट मौरित्ज (स्विटजरलैंड)। भारतीय रिस्ट स्पिनर युजवेंद्र चहल ने इन दिनों दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ वनडे मैचों की सीरीज में तहलका मचा रखी है। पहले तीन वनडे में उन्होंने प्रोटीज बल्लेबाजों को खूब परेशान किया है और उन्होंने 3 मैचों में कुल 11 विकेट चटकाए हैं। चहल काफी दिलेर गेंदबाज हैं जो पिटने से नहीं डरते और उनका मकसद होता है सिर्फ और सिर्फ विकेट लेना। आखिरकार वो इतने दिलेर गेंदबाज कैसे बने इसके बारे में न्यूजीलैंड क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान डेनियल विटोरी ने बताया। 

विटोरी ने कहा कि भारतीय कप्तान विराट कोहली ने चहल को इतना बेखौफ गेंदबाज बनाया। विराट ने चहल में काफी आत्मविश्वास भरा है जो वनडे क्रिकेट में उनकी सफलता का कारण बना है। विटोरी आइपीएल में रॉयल चैलेंजर बैंगलोर के कोच हैं जिसके कप्तान विराट कोहली हैं। विराट और चहल इस टीम के लिए काफी खेल चुके हैं। विटोरी ने कहा कि युजवेंद्र काफी बेखौफ गेंदबाज हैं और ये आसान नहीं होता जब आप चिन्नास्वामी जैसे बल्लेबाजों की मददगार पिच पर इतने आइपीएल मैच खेले हों। चहल इतने दिलेर हैं कि वो बल्लेबाजों की मददगार पिच पर भी उनपर आक्रमण करने के लिए तैयार रहते हैं। विराट ने आइपीएल में चहल में जो आत्मविश्वास भरा इसका फायदा उन्हें भारतीय टीम में मिल रहा है और वो काफी आक्रामकता से गेंदबाजी करते हैं।

विराट की कप्तानी के बारे में विटोरी ने कहा कि उनके बारे में काफी बातें की जाती हैं लेकिन उनमें सबसे अच्छी बात ये है कि वो किसी की भी बात को सुनने के लिए तैयार रहते हैं। उन्होंने कहा कि विराट के साथ आरसीबी के लिए काम करते समय मैंने देखा कि वो सुनने और सीखने के लिए हमेशा तैयार रहते हैं। मुझे व्यक्तिगत तौर पर उनकी ये दोनों आदतें काफी पसंद है। अपनी आक्रामकता वो मैदान पर दिखाते हैं और मैदान के बाद वो हमेशा कुछ ना कुछ सीखने की कोशिश करते हैं। 

क्रिकेट की खबरों के लिए यहां क्लिक करें

खेल की खबरों के लिए यहां क्लिक करें

  

Posted By: Sanjay Savern