कोलकाता, प्रेट्र। BCCI के अध्यक्ष सौरव गांगुली (Sourav Gavguly) ने कहा कि भारतीय क्रिकेट टीम (Indian cricket team) के कप्तान विराट कोहली (Virat Kohli) का डे-नाइट टेस्ट क्रिकेट मैच को लेकर स्पष्ट विचार है और निकट भविष्य में ये हकीकत में बदल सकता है। सौरव गांगुली ने मुंबई में गुरुवार को विराट कोहली से साथ बैठक की थी जिसमें इस बारे में बात की गई थी। गंगुली ने जोर देकर कहा कि विराट कोहली इसके लिए पूरी तरह से राजी हैं। कुछ इस तरह की बातें सामने आ रही थीं कि विराट डे-नाइट टेस्ट मैच नहीं खेलना चाहते हैं जिसमें कोई सच्चाई नहीं है। अगर टीम के कप्तान इस बात के लिए राजी हो गए हैं तो अब ये काफी आसान हो गया है। अब हम देखेंगे कि कैसे हम इसे आगे ले जा सकते हैं। 

सौरव गांगुली गुलाबी गेंद के टेस्ट क्रिकेट में दर्शकों को वापस लाने का समर्थन करते रहे हैं। उन्होंने कहा कि हम सब इस बारे में सोच रहे हैं और इसके बारे में कुछ करेंगे। मुझे डे-नाइट टेस्ट को लेकर काफी विश्वासी हूं। मुझे नहीं पता कि ऐसा कब होगा, लेकिन जब तक मैं आसपास हूं इसके लिए जोर लगा दूंगा। अगर गांगुली का कार्यकाल जुलाई से आगे नहीं बढ़ाया जाता है तो ऐसा शायद ही हो पाए। क्योंकि भारत को अगला घरेलू टेस्ट सीरीज दिसंबर 2020 और जनवरी 20121 के बीच खेलना है। बांग्लादेश के खिलाफ दो मैचों की टेस्ट सीरीज भारत के घरेलू सीजन के आखिरी टेस्ट मैच होंगे। 

इससे पहले टेक्निकल कमेटी के चेयरमैन के तौर पर गांगुली उस वक्त उस फैसले का हिस्सा थे जब दुलीप ट्रॉफी को गुलाबी गेंद से खेले जाने का फैसला किया गया था, लेकिन एसजी टेस्ट पिंक गेंद को लेकर घरेलू गेंदबाजों ने शिकायत की थी जिसे इस टूर्नामेंट में इस्तेमाल किया गया था। वहीं उत्तर भारत में ओस भी एक बड़ा कारण बना था क्योंकि स्पिनर्स इस प्रयोग में पूरी तरह से फेल हो गए थे। इस प्रयोग के फेल होने के बाद भारतीय टीम भी डे-नाइट मैच को लेकर ज्यादा उत्सुक नहीं दिखी थी और उस वक्त ऑस्ट्रेलिया के उस ऑफर को ठुकरा दिया गया था जिसमें एक डे-नाइट मैच कराने की बात कही गई थी। 

Posted By: Sanjay Savern

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप