नई दिल्ली, जेएनएन। महेंद्र सिंह धौनी का नाम न सिर्फ दुनिया के बेस्ट फिनिशर्स में आता है बल्कि वो एक बेहतरीन विकेटकीपर भी हैं। विकेट की पीछे जितनी तेज़ी से धौनी गिल्लियां उड़ाते हैं शायद ही कोई और अंतरराष्ट्रीय विकेटकीपर उतनी तेज़ी से किसी बल्लेबाज़ को आउट कर सके। विकेटों के बीच रन दौड़ने में भी माही जैसी तेज़ी बहुत कम बल्लेबाज़ों में देखने को मिलती है। भले ही कितना भी बड़ा खिलाड़ी हो एक न एक दिन तो उसे क्रिकेट के मैदान से दूर जाना ही पड़ता है। फिर चाहे वो सर डॉन ब्रेडमैन रहे हों, सर विवियन रिचर्ड्स रहे हों या फिर सचिन तेंदुलकर हों। सभी को क्रिकेट से संन्यास लेना पड़ा है। 

2014 में टेस्ट से लिया संन्यास

धौनी ने 2014 में टेस्ट क्रिकेट से संन्यास ले लिया था। उसी के बाद से ये कयास लगाए जाते रहे हैं कि वो जल्द ही वनडे और टी-20 क्रिकेट से भी संन्यास ले लेंगे। हालांकि अभी कुछ दिन पहले ही धौनी ने खुद कहा था कि अभी वो इस बारे में नहीं सोच रहे हैं और वो 2019 विश्व कप के बाद ही इस बारे में फैसला लेंगे। वहीं टीम इंडिया के कोच रवि शास्त्री के कहते रहे हैं कि धौनी 2019 विष्व कप के लिए टीम इंडिया की रणनीति का हिस्सा हैं और वो अभी कहीं नहीं जा रहे हैं।

ये खिलाड़ी ले सकते हैं धौनी की जगह

धौनी कभी भी संन्यास लें, उनकी जगह किसी न किसी खिलाड़ी को तो भरनी ही होगी। इस पर भारत के पूर्व टेस्ट बल्लेबाज और पूर्व चयनकर्ता विक्रम राठौर ने अपनी राय बताई। राठौर के मुताबिक रिषभ पंत, ईशान किशन और संजू सैमसन में बतौर विकेटकीपर बल्लेबाज महेंद्र सिंह धौनी का स्थान लेने की काबिलियत है। राठौर ने कहा कि धौनी जब भी संन्यास लेंगे उनके बाद यह तीन खिलाड़ी ऐसे हैं जो खेल के तीनों प्रारुपों में दिग्गज विकेटकीपर का जगह ले सकते हैं।

2016 तक बीसीसीआइ की सीनियर चयनसमिति का हिस्सा रहे राठौर ने कहा कि, 'धौनी अंत में संन्यास लेंगे ही। हो सकता है कि वो 2019 के बाद लें। तब उनका स्थान खाली होगा। पंत अच्छा कर रहे हैं। मुझे संजू सैमसन भी अच्छी प्रतिभा लगते हैं। वो भी अच्छा कर रहे हैं। साथ ही ईशान किशन भी हैं। मुझे लगता है कि इन तीनों में कोई एक धौनी का स्थान लेगा'।

क्रिकेट की खबरों के लिए यहां क्लिक करें

अन्य खेलों की खबरों के लिए यहां क्लिक करें 

Posted By: Pradeep Sehgal