नई दिल्ली, जेएनएन। साल 1997, भारत-पाकिस्तान का मैच और इंजमाम उल हक का गुस्सा, ये सभी क्रिकेट फैंस को याद होगा। इसे घटना की सच्चाई के बारे में कुछ दिन पहले पाकिस्तान क्रिकेट टीम के पूर्व क्रिकेटर वकार यूनिस ने बताई थी। अब इस मामले पर टीम इंडिया के पूर्व बल्लेबाज विनोद कांबली ने अपनी राय दी है। इस साल भारत और पाकिस्तान के बीच टोरंटो में मैच खेला जा रहा था और मैच के बीच में इंजमाम स्टैंड में जाकर एक दर्शक से भिड़ गए थे। 

विनोद कांबली ने उस घटना को याद करते हुए कहा कि कहा कि इंजमाम का वह रूप देखकर हम दंग रह गए थे। उन्होंने बताया कि भारतीय खेमा ड्रेसिंग रूम में था क्योंकि हमारी बल्लेबाजी चल रही थी। इस दौरान स्लिप पर फील्डिंग कर रहे इंजमाम उल हक बाउंड्री की तरफ फील्डिंग करने आ गए और टीम के 12वें खिलाड़ी से बल्ला मंगवाया। जब पाकिस्तान की टीम का 12वां खिलाड़ी बैट लेकर इंजमाम की तरफ जा रहा था तो हम सभी यही सोच रहे थे कि आखिरकार उन्होंने बैट क्यों मंगवाई है। 

आगे इस घटना के बारे में बताते हुए कांबली ने कहा कि जब ड्रेसिंग रूम में भारतीय खिलाड़ी इस  बात पर चर्चा कर ही रहे थे और तभी ये घटना घट गई। हम सब यही बातें कर रहे थे कि आखिर ये हुआ कैसे। हुआ ये था कि इंजमाम ने स्टैंड में बैठे एक दर्शक को पकड़कर खींचते हुए नीचे तक ले आए थे। इसके बाद वहां मौजूद सुरक्षाकर्मियों ने काफी बीच बचाव के बाद मामले को शांत करवाया। अब तक तो यही माना जा रहा था कि वो दर्शक इंजमाम को आलू-आलू कहकर चिढ़ा रहा था, लेकिन कुछ दिन पहले वकार यूनिस ने बताया था कि वो  शख्स भारतीय कप्तान मोहम्मद अजहरूद्दीन की पत्नी को लेकर अभद्र टिप्पणी कर रहा था जिसकी वजह से इंजमाम को गुस्सा आया था। 

Posted By: Sanjay Savern

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस