नई दिल्ली, जेएनएन। बीसीसीआइ ने शुक्रवार को आइसीसी वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप और इंग्लैंड के खिलाफ पांच मैचों की टेस्ट सीरीज के लिए 20 सदस्यीय भारतीय टेस्ट टीम का एलान किया। इस टीम में ऑलराउंडर हार्दिक पांड्या को शामिल नहीं किया गया। भारत को पहले न्यूजीलैंड के खिलाफ वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप का फाइनल मैच खेलना है और इसके बाद टीम इंडिया को इंग्लैंड के खिलाफ पांच मैचों की टेस्ट सीरीज में हिस्सा लेना है। हार्दिक पांड्या इंजरी से उबरने के बाद गेंदबाजी नहीं कर पा रहे हैं। आइपीएल 2021 में मुंबई इंडियंस के लिए उन्होंने एक ओवर भी गेंदबाजी नहीं की और शायद यही वजह है कि, उन्हें टेस्ट टीम में शामिल नहीं किया गया। 

अब हार्दिक पांड्या को टेस्ट टीम का हिस्सा नहीं बनाए जाने के बाद पूर्व भारतीय क्रिकेटर व कमेंटेटर आकाश चोपड़ा ने कहा है कि, अब वो लंबे समय तक भारतीय टेस्ट टीम का हिस्सा नहीं बन पाएंगे। वो टेस्ट टीम में तभी आ पाएंगे जब वो चयनकर्ताओं को विश्वास दिला देंगे कि अब वो अच्छी तरह से गेंदबाजी कर सकते हैं। अपने बैक में हुए इंजरी की वजह से हार्दिक पांड्या अपने वर्कलोड को मैनेज करने के लिए संघर्ष कर रहे हैं साथ ही वो अपनी फुल फिटनेस से दूर हैं जिससे कि वो टेस्ट क्रिकेट में लंबा स्पेल कर सकें। 

आकाश चोपड़ा ने अपने यूट्यूब चैनल पर कहा कि, अगर वो आइसीसी वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप के लिए चुनी गई टीम में नहीं हैं तो यहां तक ठीक है, लेकिन अगर उनका नाम इंग्लैंड के खिलाफ भारतीय टेस्ट टीम में नहीं है तो इसका ये मतलब है कि, हार्दिक पांड्या अब आपको लंबे वक्त तक भारतीय टेस्ट टीम में नजर नहीं आने वाले हैं। हमें लग रहा था कि, टीम में उन्हें जगह मिलेगी। ये निश्चित है कि अगर आप इंग्लैंड, साउथ अफ्रीका या ऑस्ट्रेलिया में टेस्ट क्रिकेट खेलते हैं तो आपको हार्दिक जैसे गेंदबाजी की जरूरत पड़ती है। फिलहाल उनकी गेंदबाजी को लेकर ही समस्या है। हार्दिक ने भारत के लिए अब तक 11 टेस्ट मैच खेले हैं और उन्होंने भारत के लिए आखिरी टेस्ट मैच इंग्लैंड के खिलाफ साल 2018 में खेला था। 

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप