ढाका, पाटीआई। भारत और बांग्लादेश के बीच खेली जाने वाली सीरीज को लेकर बांग्लादेश क्रिकेट बोर्ड के अध्यक्ष नाजमुल हसन बेहद चिंतित हैं। नाजमुल ने आरोप लगाया है कि बांग्लादेश के भारत दौरे को नाकाम करने की लगातार कोशिश की जा रही है। टीम के अहम खिलाड़ियों द्वारा हड़ताल में शामिल होना और 11 मांगों को रखना इसी कड़ी में उठाया गया कदम था।

भारत के दौरे पर आने से ठीक पहले बांग्लादेश क्रिकेट टीम के खिलाड़ियों ने बोर्ड के खिलाफ अपनी मांग रखते हुए हड़ताल किया था। इसमें कप्तान शाकिब अल हसन, तमीम इकबाल और मुशफिकुर रहीम से अहम खिलाड़ी भी शामिल थे। बोर्ड ने हड़ताल किए जाने के बाद खिलाड़ियों द्वारा रखी गई लगभग सभी मांगों से मान लिया था।

BCB अध्यक्ष ने बांग्लादेश डेली प्रोथोम आलो से बात करते हुए कहा, "आप लोगों ने अब तक भारत दोरे से जुड़ी कोई चीज नहीं देखी है। बस इंतजार कीजिए और देखते जाइए। अगर मैं ऐसा कह रहा हूं कि मेरे पास जरूर पुख्ता जानकारी है कि यह बांग्लादेश के भारत दौरे को नाकाम करने के लिए की गई साजिश थी तब आप मेरी बात माननी चाहिए।"

वो ऐसा क्यों कह रहे हैं इस बारे में विस्तार से जानकारी देने को कहे जाने पर उन्होंने बताया कि टीम के ओपनर तमीम इकबाल का दौरे से नाम वापस लेना इसका सबूत माना जा सकता है। तमीम ने पत्नी की डिलिवरी की वजह से भारत दौरे से नाम वापस लिया है। इससे पहले उन्होंने सिर्फ दोनों देशों के बीच खेले जाने वाले दूसरे टेस्ट मैच में ही ना खेलने का फैसला लिया था। 

"तमीम ने शुरुआत में मुझे कहा था कि दूसरे बच्चे के जन्म की वजह से वह सिर्फ भारत के खिलाफ खेले जाने वाले दूसरे टेस्ट मैच में ही नहीं खेल पाएंगे। खिलाड़ियों के साथ हुई मीटिंग के बाद तमीम मेरे पास आए और उन्होंने कहा कि वह पूरे दौरे से नाम वापस लेना चाहते हैं। मैंने उनसे पूछा 'ऐसा क्यों ?' इस पर उन्होंने बस इतना कहा 'नहीं जाना चाहता हूं।" 

Posted By: Viplove Kumar

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस