लंदन, आईएएनएस। ऑस्ट्रेलिया क्रिकेट टीम (Australia cricket team) के बल्लेबाज स्टीव स्मिथ (Steve Smith) ने एशेज सीरीज में धमाकेदार बल्लेबाजी करते हुए 774 रन बनाए। इंग्लैंड ने सीरीज के आखिरी मुकाबले को जीतकर भले 2-2 की बराबरी हासिल की लेकिन पिछली बार सीरीज जीतने के कारण एशेज ट्रॉफी (Ashes) ऑस्ट्रेलिया को दी गई। ऑस्ट्रेलिया की जीत में स्मिथ की बल्लेबाजी अहम रही। एशेज की लंबी सीरीज के बाद अब यह बल्लेबाज ब्रेक लेकर आराम करना चाहता है।

एशेज सीरीज (Ashes series) के दौरान एक साल के बैन से वापसी कर रहे स्टीव स्मिथ ने अकेले दम पर ऑस्ट्रेलिया के लिए कई मुकाबले बनाए। स्मिथ ने सात पारियों में 110 की औसत से 774 रन बनाए और सीरीज में सबसे ज्यादा रन बनाने वाले बल्लेबाज रहे।

सीरीज के आखिरी मुकाबले के बाद मीडिया से बात करते हुए स्मिथ ने कहा, “मैं जो कुछ भी दे सकता था वो यहां रहते हुए पिछले साढे चार महीनों में दिया। आज अब मेरे पास देने के लिए ज्यादा कुछ नही बचा है। मैं शारीरिक और मानसिक तौर पर काफी थक चुका हूं, अब अगले कुछ हफ्ते आराम करने की सोच रहा हूं। ऑस्ट्रेलिया के अगले अभियान के लिए पूरी तरह से तरोताजा होकर वापसी करना चाहूंगा।“

अपनी शानदार बल्लेबाजी के दम पर स्मिथ आईसीसी की टेस्ट रैंकिंग में वापस से नंबर एक बल्लेबाज बन गए हैं। इंग्लैंड सीरीज में बल्लेबाजी पर उनका कहना था, "जब मैं मैदान पर लौटा तो बहुत ही अच्छा अभिवादन मिला, अच्छा होता अगर मैं कुछ और रन बनाने में कामयाब हो पाता।" 

ये भी पढ़ें: India vs Pakistan विश्व कप मैच ने तोड़ डाले ICC के सभी रिकॉर्ड

बॉल टैंपरिंग में दोषी पाए गए 30 साल के स्मिथ की 12 महीनों के प्रतिबंध के बाद क्रिकेट के मैदान पर वापसी आसान नहीं रही। उन्होंने पहले ही टेस्ट में शानदार 144 रन की पारी खेलकर आलोचकों को शांत कर दिया। स्मिथ ने बताया कि पहले टेस्ट में शतक बनाने से उनको काफी आत्मविश्वास मिला। "एशेज में खेला जाने वाला पहला टेस्ट हमेशा ही महत्वपूर्ण होता है। टीम को मुश्किल हालात से निकालकर बाहर लाने से मुझे काफी आत्मविश्वास मिला।" 

 

Posted By: Viplove Kumar

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप