हैमिल्टन, प्रेट्र। जरा याद कीजिए पिछले साल इंग्लैंड में खेले गए वनडे विश्व कप फाइनल मैच को जिसमें न्यूजीलैंड की टीम को इंग्लैंड ने सुपर ओवर में हराया था। ये एक ऐसा दर्द है जिसे कीवी टीम शायद ही कभी भूल पाएगी। अब एक बार फिर से भारतीय टीम ने न्यूजीलैंड को तीसरे टी 20 मैच में सुपर ओवर में हराकर सीरीज पर कब्जा किया। हालांकि विश्व कप में वो मैच 50-50 के पारूप का था और ये मैच 20-20 के पारूप का, लेकिन इस मैच ने न्यूजीलैंड क्रिकेट टीम के जख्म को कुरेद दिया। 

टीम इंडिया से सुपर ओवर में मिली हार के बाद कप्तान केन ने कहा कि सुपर ओवर सचमुच हमारा दोस्त नहीं है। ईमानदारी से कहूं तो हम ये मैच पहले ही जीत लेना चाहते थे, सुपर ओवर में नहीं, लेकिन हम ऐसा नहीं कर पाए। मैच में मिली हार के बाद निराश होते हुए केन ने कहा कि बहुत ज्यादा मेहनत करने के बाद भी परिणाम हमारे पक्ष में नहीं रहा जो निराशाजनक है। हालांकि हमने पिछले दो मैचों के मुकाबले ज्यादा अच्छा खेल दिखाया और खेल में काफी सुधार हुआ। 

केन विलियमसन ने कहा कि ये शानदार मैच था। इस मैच में भारत ने अच्छा स्कोर किया और गेंद से साथ भी उनका प्रदर्शन अच्छा था, लेकिन मैच कुछ जगह पर काफी रोमांचक था। इस मैच में हमने काफी संघर्ष किया और अच्छी बल्लेबाजी की पर रिजल्ट हमारे हक में नहीं रहा। सुपर ओवर के बारे में उन्होंने कहा कि ये कमाल का रहा। स्टेडियम में काफी संख्या में दर्शक मौजूद थे जो सचमुच अच्छा था। ये शानदार मैच रहा। सुपर ओवर में दूसरे स्थान पर आना हमारे लिए आदर्श नहीं था, लेकिन क्रिकेट फैंस ने इसका पूरा आनंद उठाया और ये ठीक है। 

केन ने इस मैच में पहले 48 गेंदों पर 95 रन बनाए और फिर सुपर ओवर में उन्होंने 11 रन बनाए, लेकिन ये पर्याप्त नहीं था। उन्होंने कहा कि आप अपनी टीम के लिए और उसकी जरूरत के मुताबिक ज्यादा से ज्यादा अच्छा करने की कोशिश कर सकते हैं। बुमराह के बारे में उन्होंने कहा कि हमने उन्हें टारगेट नहीं किया था। उस वक्त हमें हर ओवर में दस रन बनाने की जरूरत थी। उन्होंने कहा कि क्रिकेट के इस प्रारूप में हमारी टीम आगे बढ़ रही है और प्रोग्रेस कर रही है। अभी इस सीरीज के दो मैच और बचे हैं और हम अच्छा करने की कोशिश करेंगे। 

Posted By: Sanjay Savern

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस