दुबई, पीटीआइ। भारत के मुख्य कोच रवि शास्त्री ने सोमवार को कहा कि आइसीसी टी20 विश्व कप 2021 में भारत किस संयोजन के साथ उतरेगी। कोच शास्त्री ने कहा है कि पाकिस्तान के खिलाफ 24 अक्टूबर से शुरू हो रहे टी20 विश्व कप के अभियान के दौरान टीम को एक अतिरिक्त तेज गेंदबाज या स्पिनर के साथ जाने का फैसला ओस कारक (dew Factor) को ध्यान में रखकर लिया जाएगा। रवि शास्त्री भारतीय टीम के साथ अपने अंतिम कार्य पर हैं।

उन्होंने यह भी स्पष्ट किया कि अभ्यास मैचों में मैनेजमेंट ये देखना चाहता है कि खिलाड़ी किस तरह अपनी फार्म और लय को हासिल करते हैं। स्टार स्पोर्ट्स पर दीप दासगुप्ता से बात करते हुए टीम इंडिया के हेड कोच रवि शास्त्री ने कहा, "हम बस यह देखने की कोशिश करेंगे कि आसपास कितनी ओस है और उसी के अनुसार पहले बल्लेबाजी/गेंदबाजी करने का फैसला करेंगे। अतिरिक्त स्पिनर या सीमर खेलने के बारे में निर्णय लेने में भी यह हमारी मदद करता है।"

भारत को अपने सभी मैच शाम को खेलने हैं, जब ओस एक प्रमुख कारक बन जाती है। ओस जितनी ज्यादा होगी, स्पिनरों के लिए गेंद को पकड़ना उतना ही मुश्किल होगा, जिससे बल्लेबाजों के लिए स्ट्रोक खेलना आसान हो जाएगा। शास्त्री ने कहा कि आइपीएल भारतीय खिलाड़ियों के लिए एक आदर्श तैयारी वाला टूर्नामेंट रहा है, जिनमें से अधिकांश अपनी-अपनी फ्रेंचाइजी के लिए नियमित खिलाड़ी रहे हैं।

उन्होंने कहा, "लड़के पिछले दो महीने से आइपीएल खेल रहे हैं, इसलिए मुझे नहीं लगता कि उन्हें ज्यादा तैयारी की जरूरत है। यह उनके एक साथ होने और एक साथ ढलने के बारे में अधिक है।" अभ्यास मैचों से मिलने वाले विशिष्ट लाभ के बारे में पूछने पर शास्त्री ने कहा, "हर कोई बल्लेबाजी कर सकता है, हर कोई गेंदबाजी कर सकता है। इसलिए इससे हमें यह अंदाजा लगाने में मदद मिलेगी कि कौन कैसे कर रहा है। वास्तव में ऐसा नहीं है। हम देखेंगे कि चीजें कैसे चलती हैं और एक संयोजन के आसपास काम करती हैं।"

Edited By: Vikash Gaur