नई दिल्ली, जेएनएन। भारतीय कप्तान विराट कोहली का बल्ला इन दिनों जमकर रन बरसा रहा है। श्रीलंका के खिलाफ दिल्ली टेस्ट मैच की पहली पारी में विराट कोहली ने दोहरा शतक जड़ा। यह उनका अपने घरेलू मैदान फिरोजशाह कोटला पर पहला टेस्ट शतक रहा।

पिछले डेढ़ साल में छह दोहरे शतक लगाने वाले विराट ने अब जाकर यह खुलासा किया है कि दोहरा शतक जड़ने की प्रेरणा उन्हें कहां से मिली है। विराट ने कहा कि उन्होंने टीम के साथी खिलाड़ी चेतेश्वर पुजारा सीखा है कि कैसे अपने शतक को दोहरे शतक में बदला जाता है। जून 2016 से पहले विराट कोहली के नाम एक भी दोहरा शतक नहीं था और अब करीब 18 महीने के अंतराल में उनके नाम 6 दोहरे शतक हो गए हैं। इनमें से पिछले दो दोहरे शतक उन्होंने लगातार दो टेस्ट मैचों में बनाए हैं। विराट ने दिल्ली टेस्ट की इस पारी में अपने करियर का सर्वाधिक 243 स्कोर भी बनाया है। 

एक समय लग रहा था कि विराट कोहली अपनी पारी को तिहरे शतक में तब्दील कर देंगे, लेकिन उनकी एकाग्रता भंग होने से वह ऐसा नहीं कर सके। दिल्ली टेस्ट के दौरान ही टीम के साथी और मध्यक्रम के मजबूत खिलाड़ी चेतेश्वर पुजारा ने कोहली के खेल के कई पहलुओं पर बात की। 

इस दौरान पुजारा ने उनसे पूछा कि करीब 18 महीनों में 6 दोहरे शतक जड़कर कैसा लग रहा है? इस पर विराट ने कहा कि सिर्फ मैं ही नहीं बल्कि पूरी टीम ने जिस खिलाड़ी से बड़ी पारियां खेलना सीखा है, वह कोई और नहीं बल्कि चेतेश्वर पुजारा ही हैं। पुजारा को टीम इंडिया की नई दीवार कहा जाता है। इससे पहले 'द वॉल' नाम को टीम इंडिया के पूर्व कैप्टन राहुल द्रविड़ से जोड़ा जाता था। 

दिल्ली में दोहरा शतक जड़ने के बाद कोहली ने कहा, 'शानदार महसूस कर रहा हूं। अब हमेशा मेरे दिमाग में यह रहता है कि मैं बड़े शतक बनाऊं, कुछ ऐसा करूं जैसे मैंने तुम्हें (पुजारा) अक्सर करते देखा और सीखा है कि कैसे लंबे समय तक खेलते रहने के लिए एकाग्रता बनाए रखनी होती है।' 

उन्होंने आगे कहा, 'हम सभी ने पुजारा की लंबी-लंबी पारियों को देखकर सीखा है, उनकी एकाग्रता और लंबे समय तक बैटिंग करते रहने की चाह कमाल है, तो मैं भी उन्हें देखकर प्रेरित हुआ। अब मैं यही प्रयास करता हूं कि जब तक संभव हो, मैं टीम के लिए लंबे समय तक पिच पर खड़ा रहकर ज्यादा से ज्यादा रन बना सकूं। तुम भी ऐसा ही करते हो और अपनी पारी खेलते हुए कभी थकते नहीं हो और किसी चीज से परेशान नहीं दिखते हो। तुम मैच की स्थिति को भांपते हुए अपने खेल पर फोकस रहते हो।' 

 

देखें- कोहली ने पुजारा को दी एक चुनौती

टेस्ट क्रिकेट में 6 दोहरे शतक समेत 20 शतक जड़ चुके विराट कोहली ने कहा कि एडीलेड टेस्ट में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ दूसरी पारी में जड़ा गया शतक आज भी उनके लिए सबसे खास शतक है। बता दें कि मौजूदा  टेस्ट में विराट के 243 रन की बदौलत भारत ने अपनी पहली पारी 536/7 के स्कोर पर घोषित कर दी थी। श्रीलंकाई टीम दिल्ली में हवा की खराब स्थिति के कारण फील्डिंग करने में लगातार आनाकानी कर रही थी। ऐसे में कोहली का कहना था कि अगर श्रीलंकाई खिलाड़ियों को फील्डिंग करने में परेशानी हो रही है तो हम फील्डिंग करेंगे, आप बैटिंग करो। 

क्रिकेट की खबरों के लिए यहां क्लिक करें

अन्य खेलों की खबरों के लिए यहां क्लिक करें

Posted By: Bharat Singh

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप