इंदौर, जेएनएन : भारतीय क्रिकेट टीम के मुख्य कोच राहुल द्रविड़ (Rahul Dravid) ने कहा कि आगामी टी-20 विश्व कप से पर्थ में लगने वाली तैयारी शिविर के दौरान टीम का प्राथमिक उद्देश्य आस्ट्रेलिया में 'अलग तरह' की गति और उछाल से अभ्यस्त होने की होगी। आस्ट्रेलिया और दक्षिण अफ्रीका पर घरेलू सीरीज टी-20 में जीत के बाद द्रविड़ ने कहा कि विश्व कप से पहले आस्ट्रेलिया के लिए जल्दी रवाना होने का मकसद खिलाड़ियों को वहां की परिस्थितियों के अनुकूल बनाना है, खासकर उन खिलाड़ियों के लिए जिन्होंने उस देश में अब तक नहीं खेला है। टीम गुरुवार सुबह पर्थ के लिए रवाना होगी। टीम आइसीसी द्वारा आयोजित अभ्यास मैचों के लिए ब्रिसबेन जाने से पहले पर्थ में आपस में ही कुछ अभ्यास मैच खेलेगी।

आस्ट्रेलिया की गति और उछाल का अभ्यस्त होने में लगता है कुछ समय 

भारत अपने विश्व कप अभियान की शुरुआत 23 अक्टूबर को पाकिस्तान के विरुद्ध करेगा। द्रविड़ ने दक्षिण अफ्रीका के विरुद्ध तीसरे टी-20 अंतरराष्ट्रीय मैच के बाद संवाददाता सम्मेलन में कहा कि हमें पर्थ में कुछ सत्र बिताने का मौका मिलेगा और फिर वहां कुछ मैच होंगे। आस्ट्रेलियाई पिच पर गेंद की गति और उछाल के मामले में काफी अनोखा है और हमारे कई खिलाड़ियों ने आस्ट्रेलिया में ज्यादा टी-20 क्रिकेट नहीं खेला।

आस्ट्रेलिया के लिए पहले रवाना होने का मकसद टीम को अभ्यास के लिए समय देना है। आस्ट्रेलिया की गति और उछाल का अभ्यस्त होने में कुछ समय लगता है और उम्मीद है कि अभ्यास के बाद हम समझ पाएंगे की उन परिस्थितियों में हमें कैसे खेलना है। इससे रणनीति बनाने में आसानी होगी।

जानें बुमराह को लेकर द्रविड ने क्या कहा

इस पूर्व दिग्गज खिलाड़ी ने कहा कि यह महत्वपूर्ण है (जल्दी जाना) क्योंकि हमारे पास एक युवा टीम है जिसने आस्ट्रेलिया में बहुत अधिक क्रिकेट नहीं खेला है। इसलिए उम्मीद है कि इससे हमें मदद मिलेगी। बुमराह का पीठ की चोट के कारण विश्व कप से बाहर होना टीम के लिए बड़ा झटका है। भारतीय टीम ने पिछले कुछ मैचों में आखिरी ओवरों में काफी रन लुटाए हैं।

उम्मीद है कि उनकी जगह टीम में मोहम्मद शमी को शामिल किया जाएगा। द्रविड़ ने कहा कि बुमराह के विकल्प के संदर्भ में हम चीजों को देख रहे हैं, हमारे पास 15 अक्टूबर तक का समय है। शमी स्टैंडबाई में हैं, लेकिन दुर्भाग्य से वह इन दो सीरीज में नहीं खेल सके। यह उस नजरिये से आदर्श होता है, लेकिन वह इस समय एनसीए में है। कोविड-19 से निपटने के 14-15 दिनों के बाद उनकी स्थिति क्या होगी इस पर हमें रिपोर्ट लेनी होगी।

Edited By: Piyush Kumar

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट