नई दिल्ली, आनलाइन डेस्क। टीम इंडिया को पाकिस्तान के खिलाफ टी20 वर्ल्ड कप के पहले ही मैच में जब 10 विकेट से हार मिली तब भारतीय प्लेइंग इलेवन के सलेक्शन पर काफी सवाल उठे। खास तौर पर हार्दिक पांड्या को बतौर शुद्ध बल्लेबाज प्लेइंग इलेवन में शामिल किए जाने के फैसले पर काफी बातें हुई। हार्दिक इन दिनों गेंदबाजी नहीं कर पा रहे हैं, लेकिन बल्लेबाजी में भी उनका फार्म कुछ खास नहीं है और पाकिस्तान के खिलाफ ये बात साबित भी हो गई पाकिस्तान के खिलाफ भी बल्लेबाजी के दौरान वो थोड़ी परेशानी में नजर आए थे। हालांकि न्यूजीलैंड के खिलाफ रविवार को होने वाले मुकाबले से पहले बुधवार को टीम इंडिया के प्रैक्टिस सेशन में वो गेंदबाजी करते हुए नजर आए थे।

कहा जा रहा है कि वो शायद न्यूजीलैंड के खिलाफ गेंदबाजी कर सकते हैं, लेकिन ऐसा होगा ये पक्का नहीं है। हार्दिक की बल्लेबाजी फार्म को देखते हुए कई लोगों की राय है कि उनकी जगह प्लेइंग इलेवन में शानदार फार्म में चल रहे ईशान किशन को प्लेइंग इलेवन में शामिल किया जाए। अब हार्दिक पांड्या की जगह ईशान किशन को प्लेइंग इलेवन में शामिल करना कितना फायदेमंद होगा इसके बारे में पूर्व भारतीय क्रिकेटर आकाश चोपड़ा ने बताया। उन्होंने अपने यूट्यूब चैनल पर बात करते हुए एक यूजर के सवाल का जवाब देते हुए बताया कि वो हार्दिक की जगह ईशान किशन को प्लेइंग इलेवन में शामिल करने के खिलाफ हैं। 

आखिर किस वजह से हार्दिक की जगह ईशान किशन को प्लेइंग इलेवन में शामिल नहीं करना चाहिए इसका कारण बताते हुए आकाश चोपड़ा ने कहा कि, अगर ईशान को टीम में शामिल किया जाता है तो वो रोहित शर्मा के साथ ओपनिंग करेंगे। इस स्थिति में केएल राहुल को चौथे नंबर पर बल्लेबाजी के लिए आना होगा और फिर सूर्यकुमार यादव के बल्लेबाजी क्रम में भी बदलाव होगा और वो छठे नंबर पर खिसक जाएंगे। एक ईशान किशन के टीम में आने से बल्लेबाजी में कई सारे बदलाव करने होंगे जो शायद टीम के हित में नहीं होगा। वहीं उन्होंने कहा कि विराट कोहली को अपने बल्लेबाजी क्रम में किसी भी तरह का कोई बदलाव करने की जरूरत नहीं है। उन्होंने कहा कि न्यूजीलैंड के खिलाफ भारत को अपनी गेंदबाजी में थोड़ा बदलाव करने की जरूरत है साथ ही 6 बल्लेबाज और 5 गेंदबाज के फार्मूले के साथ ही मैदान पर उतरना चाहिए। 

Edited By: Sanjay Savern