नई दिल्ली, जेएनएन। चेन्नई सुपर किंग्स के अनुभवी बल्लेबाज सुरेश रैना ने निजी कारणों से इंडियन प्रीमियर लीग के 13वें एडिशन से हटने का फैसला किया। पिछले सप्ताह रैना यूएई से भारत लौट आए। सुरेश रैना ने ये भी स्पष्ट कर दिया है कि उनके और सीएसके के बीच कोई विवाद नहीं हुआ है। रैना ने सीएसके के मालिक एन श्रीनिवासन को लेकर कहा है कि एक बाप अपने बेटे को डांट सकता है। हालांकि, सुरेश रैना ने दैनिक जागरण की तरह एक क्रिकेट वेबसाइट को दिए इंटरव्यू में ये साफ कर दिया है कि वे अपनी पत्नी और बच्चों की चिंता करते हुए भारत लौटे हैं। रैना ने ये भी खुलासा किया है कि वे अभी भी आइपीएल 2020 में चेन्नई सुपर किंग्स के लिए खेल सकते हैं।

सुरेश रैना ने भारत लौटने के फैसले को लेकर कहा, "यह मेरा निजी फैसला था और मैं अपने परिवार की वजह से वापस आया हूं। ऐसा कुछ था, जिसमें मुझे अपने परिवार के साथ रहना था। सीएसके भी मेरा परिवार है और माही भाई (एमएस धौनी) मेरे लिए सबकुछ हैं। ऐसे में ये कठिन फैसला था, जो मुझे लेना पड़ा। मेरे और सीएसके के बीच कोई विवाद नहीं है। कोई भी बिना किसी ठोस कारण के साढ़े 12 करोड़ रुपये नहीं छोड़ सकता। मैंने भले ही इंटरनेशनल क्रिकेट से संन्यास ले लिया है, लेकिन मैं अभी युवा हूं और 4-5 साल IPL खेल सकता हूं।"

वहीं, CSK के मालिक एन श्रीनिवासन ने रैना को लेकर काफी कुछ कहा था, जिसको लेकर अब रैना ने कहा है, "वह(श्रीनिवासन) मेरे पिता समान हैं और वह हमेशा मेरे साथ खड़े रहते हैं। वह मेरे दिल के काफी करीब हैं। वह मुझे छोटे बेटे की तरह मानते हैं और एक बाप अपने बेटे को डांट सकता है। उनको नहीं पता कि मैंने क्यों आइपीएल छोड़ा है। अब उनको इसके बारे में पता लग गया है और हमारी बात भी हो गई है।" इसके अलावा सीएसके में लौटने पर सुरेश रैना ने कहा है, "मैं यहां क्वारंटाइन में रहते हुए भी ट्रेनिंग कर रहा हूं। आप कभी नहीं जानते कि आप मुझे फिर से वहां शिविर में देख सकते हो।" रैना ने कहा है कि मेरे लिए अभी सीएसके के दरवाजे बंद नहीं हुए हैं। धौनी मेरे बड़े भाई की तरह हैं। अगर यूएई में कोरोना वायरस के हालात सुधरते हैं तो वे आइपीएल में वापसी कर सकते हैं। 

सुरेश रैना ने परिवार को लेकर कहा है, "मेरा एक युवा परिवार है और मुझे इस बात की चिंता थी कि अगर मेरे साथ कुछ होता है तो उनका क्या होगा? मेरा परिवार मेरे लिए सबसे महत्वपूर्ण है और मैं इस समय के दौरान उनके लिए वास्तव में चिंतित हूं। मैंने अपने बच्चों को वापस आने के बाद भी 20 दिनों से अधिक समय तक नहीं देखा है, क्योंकि मैं क्वारंटाइन में हूं।" हालांकि, सुरेश रैना ने ये भी कहा है कि बीसीसीआइ और टीम मैनेजमेंट सभी का ध्यान रख रहा है, लेकिन फिर भी उनको घर की चिंता इसलिए भी थी, क्योंकि हाल ही में उनके फूफा के घर अज्ञात लोगों ने हमला कर दिया था, जिसमें फूफा और उनके बेटे की मौत हो गई थी। 

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस