नई दिल्ली, जेएनएन। चेन्नई सुपर किंग्स की तरफ से खेल चुके स्पिनर आर अश्विन से सुरेश रैना ने लाइव चैट पर बात की। किंग्स इलेवन पंजाब की कप्तानी कर चुके अश्विन अब दिल्ली कैपिटल्स की तरफ से खेलते नजर आएंगे। कोरोना वायरस संक्रमण की वजह से इस वक्त भारत में लॉकडाउन घोषित किया गया है। घर बैठे इन दिनों तमाम क्रिकेटर बातें कर फैंस के लिए मजेदार किस्से बता रहे हैं।

सुरेश रैना और अश्विन की बातों के दौरान एक ऐसा ही किस्सा सुनने को मिला। रैना ने बताया कि 2014 में पंजाब के खिलाफ उन्होंने कैसे 25 गेंद पर 87 रन की आतिशी पारी खेली थी। रैना ने बताया कि इस पारी के पीछे की प्रेरणा पूर्व विस्फोटक ओपनर वीरेंद्र सहवाग थे।

अश्विन ने साल 2014 में चेन्नई और पंजाब की टीम के बीच खेले गए दूसरे क्वालीफायर मैच की बात की। इस मुकाबले में सहवाग ने 58 गेंद पर 122 रन की ताबड़तोड़ पारी खेलकर 226 रन का स्कोर बना डाला था। रैना ने 25 गेंद पर 87 रन की पारी खेली लेकिन भी चेन्नई को 24 रन से हारकर टूर्नामेंट से बाहर होना पड़ा था।

सहवाग ने 58 गेंद पर बनाए थे 122 रन

"जब मैंने वीरू भाई के उस विकेट पर ऐसे शॉट्स मारते हुए देखा तो सोचा कि यह बल्लेबाजी के लिए वाकई काफी अच्छा है। किंग्स इलेवन पंजाब की पारी के बाद जब मैं वापस लौट रहा था ड्रेसिंग रूम की तरफ तो अपने आप से कहता जा रहा था रैना शांत रहना।"

"मैं किसी और ही जोन में था उस मैच के दौरान क्योंकि मैंने वीरू भाई को मैदान के हर कोने में शॉट्स लगाते हुए देखा था। स्लिप, प्वाइंट और कवर्स की तरफ। जब मैंने देखा था कि वीरू भाई सीधे बल्ले से मार रहे हैं तो अपने आप से कहा था मैं भी इसी तरह से बल्लेबाजी करूंगा।"

सहवाग की पारी ने रैना का दिलाया विश्वास 

"शांत रहने से मेरे अंदर विश्वास आया कि यह स्कोर हम पीछा कर सकते हैं। मुझे लगता है मैं और एमएस को यकीन था हम कर लेंगे। मैं काफी खुश था जब लगभग हर एक गेंद मेरे बल्ले के बीचों बीच लग रही थी।"  

Posted By: Viplove Kumar

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस