मेलबर्न, प्रेट्र। ऑस्ट्रेलिया के स्टार स्पिनर नाथन लियोन नरेंद्र मोदी स्टेडियम की पिच को लेकर चल रही हायतौबा से हैरान हैं। उन्होंने कहा कि ऐसा लगता है कि जब गेंद स्पिन लेने लगती है तो सभी रोना शुरू कर देते हैं, जबकि तेज गेंदबाजी की अनुकूल पिच पर टीमों के कम स्कोर पर आउट होने पर कोई कुछ नहीं बोलता। लियोन ने हालांकि क्यूरेटर की सराहना की है।

द वेस्ट ऑस्ट्रेलियन ने लियोन के हवाले से लिखा, 'हम दुनिया भर में तेज गेंदबाजी की अनुकूल पिच पर खेलते हैं और 47, 60 रन पर आउट हो जाते हैं। कोई (पिच के बारे में) कुछ नहीं कहता। लेकिन, जैसे ही ये स्पिन लेना शुरू कर देती है, दुनिया भर में ऐसा लगता है कि सभी ने रोना शुरू कर दिया है। मुझे यह समझ नहीं आता। मुझे इसमें (पिच में) कोई दिक्कत नहीं लगी, यह रोमांचक थी।'

पिच क्यूरेटर से महानतम ऑफ स्पिनरों में से एक का सफर तय करने वाले लियोन ने कहा कि वह अहमदाबाद के क्यूरेटर को सिडनी क्रिकेट ग्राउंड (एससीजी) में लाना पसंद करेंगे। उन्होंने कहा, 'मैं पूरी रात इसे देख रहा था। यह बेहद शानदार था। मैं उस क्यूरेटर को एससीजी में लाने के बारे सोच रहा हूं। इस टेस्ट मैच के बारे में सर्वश्रेष्ठ चीज यह थी कि इंग्लैंड चार तेज गेंदबाजों के साथ उतरा था। मेरे लिए यही काफी है। मुझे कुछ और कहने की जरूरत नहीं है।'

आपको बता दें कि, भारत और इंग्लैंड के बीच अहमदाबाद के नरेंद्र मोरी स्टेडियम पर खेले गए पहले ड-नाइट टेस्ट यानी तीसरे टेस्ट मैच में इंग्लैंड की टीम को 10 विकेट से बड़ी हार मिली थी। इस जीत में स्पिनर्स की भूमिका बड़ी अहम रही थी और मैच दो दिन में ही खत्म हो गया था। इसके बाद पिच को लेकर बहस जारी है और कई दिग्गजों ने इसे टेस्ट के लिए बेहद खराब पिच करार दिया। 

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप