नई दिल्ली, आनलाइन डेस्क। केपटाउन टेस्ट मैच की पहली पारी में भारतीय तेज गेंदबाजों बुमराह, मो. शमी, शार्दुल ठाकुर व उमेश यादव ने बखूबी अपना काम किया और मेजबान टीम को 223 के मुकाबले 210 पर पर समेटने में बड़ी भूमिका निभाई। अब भारतीय गेंदबाजी को लेकर पूर्व भारतीय ओपनर बल्लेबाज व इस मैच में कमेंट्री कर रहे सुनील गावस्कर ने भारतीय गेंदबाजी अटैक की जमकर सराहना की और उनका सोचना है कि भारतीय बल्लेबाजों ने न्यूलैंड्स में साउथ अफ्रीकी बल्लेबाजों को परेशान करने में सफलता हासिल की। 

पहली पारी में भारत की तरफ से बुमराह ने सबसे ज्यादा पांच विकेट लिए थे। स्टार स्पोर्ट्स पर बात करते हुए गावस्कर ने कहा कि प्रोटियाज बुमराह की क्षमताओं से सावधान रहेंगे। वो ऐसे गेंदबाज है जिसके बारे में दक्षिण अफ्रीकी सबसे ज्यादा चिंता करते हैं। जसप्रीत बुमराह क्या कर सकते हैं, देखे वह धीमी गति से गेंदबाजी कर सकते हैं। उनके पास ऐसी गेंद है जो बाएं हाथ के बल्लेबाजों को आसानी से फंसा सकती है और डीन एल्गर के साथ ऐसा ही हुआ। वहीं उनके पास ऐसी गेंद भी है जो दाएं हाथ के बल्लेबाज से भी थोड़ा दूर जाता है। 

गावस्कर ने बुमराह की गेंदबाजी के बारे में आगे कहा कि उनसे पास तेज यार्कर व धीमा यार्कर भी है। उनके बास काफी शार्ट बाउंसर भी है और वो ऐसे गेंदबाज हैं जिनके पास हर तरह के हथियार हैं। बुमराह ने पहली पारी में पांच विकेट लिए। उन्होंने इस मैच में डीन एल्गर के अलावा कीगन पीटरस, मार्को जेनसन, लुंगी नगीडी, व एडन मार्करम को आउट किया। बुमराह के अलावा पहली पारी में मो. शमी व उमेश यादव ने दो-दो विकेट लिए जबकि शार्दुल ठाकुर ने एक सफलता अर्जित की। 

Edited By: Sanjay Savern