नई दिल्ली, जेएनएन। टीम इंडिया ने न्यूजीलैंड के खिलाफ आइसीसी वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप फाइनल मुकाबले में दूसरे दिन का खेल खत्म होने तक 3 विकेट पर 146 रन बनाए थे। पहले बल्लेबाजी करते हुए टीम इंडिया के ओपनर्स ने अच्छी शुरुआत की और पहले विकेट के लिए 62 रन की अच्छी साझेदारी की। रोहित शर्मा व शुभमन गिल ने टीम को अच्छी शुरुआत दिलाई जिमसें गिल ने 28 रन का योगदान दिया और नील वैगनर की गेंद पर आउट हो गए। शुभमन गिल ज्यादा बड़ा स्कोर नहीं कर पाए, लेकिन इस मैच में कमेंट्री कर रहे टीम इंडिया के पूर्व ओपनर बल्लेबाज सुनील गावस्कर ने उनके टेंपरामेंट की जमकर तारीफ की। 

शुभमन गिल की बल्लेबाजी के बारे में बात करते हुए सुनील गावस्कर ने कमेंट्री बॉक्स में कहा कि, उनमें एक महान खिलाड़ी बनने का टेंपरामेंट मौजूद है। शुभमन गिल ने अपनी इस पारी के दौरान तीन चौके लगाए। गावस्कर ने गिल के बारे में कहा कि, वो भारत के लिए टेस्ट क्रिकेट में कई शतक लगाएंगे। शुभमन गिल ने अपने टेस्ट करियर में अब तक तीन शतक लगाए हैं और उनका बेस्ट स्कोर 91 रन है। उन्होंने ये 91 रन की पारी ऑस्ट्रेलिया दौरे पर ब्रिस्बेन टेस्ट मैच के दौरान खेली थी। गावस्कर ने कहा कि, इस युवा खिलाड़ी को सिर्फ एक टेस्ट शतक लगाने की जरूरत है। 

गावस्कर ने आगे कहा कि, पहला शतक हमेशा सबसे कठिन होता है क्योंकि अर्धशतक बनाने से लेकर तीन अंकों तक पहुंचने का सफर इतना आसान नहीं होता है। बल्लेबाज 70-80 रन के निशान के आसपास कहीं न कहीं स्थिर महसूस करते हैं और गेंदबाजों को सीरियस तौर पर लेना शुरू कर देते हैं और इस तरह अपना विकेट खो देते हैं। उन्हें बस अपना पहला शतक लगाने की जरूरत है और फिर बहुत कुछ होगा। आपको बता दें कि, शुभमन गिल ने इसी साल ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ अपने टेस्ट करियर की शुरुआत की थी। 

Edited By: Sanjay Savern