सिडनी, आइएएनएस। ऑस्ट्रेलिया क्रिकेट टीम के महानतम कप्तानों में शुमार स्टीव वॉ और दिग्गज स्पिनर शेन वार्न के बीच चल रहा विवाद अभी खत्म होता नजर नहीं आ रहा है। पिछले कुछ दिनों से दोनों के बीच विवाद की खबरें सुनने को मिल रही है। यह विवाद साल 1999 में पूर्व कप्तान वॉ द्वारा उनको टीम से बाहर रखने पर हुआ था।

शेन वॉर्न और स्टीव वॉ, 1990 के आखिर में ऑस्ट्रेलियाई टीम के दो शानदार चेहरे थे। वॉ ने बाद में ऑस्ट्रेलियाई टीम का नेतृत्व भी किया, लेकिन वार्न और वॉ के संबंधों में वर्षो से खटास रही है। पूर्व कप्तान वॉ ने 1999 में ऑस्ट्रेलिया के वेस्टइंडीज दौरे के लिए वॉर्न को नहीं ले जाने का फैसला किया था।

वॉ ने बताया है कि कैसे वह अपने सर्वश्रेष्ठ स्पिनर को चौथे और अंतिम टेस्ट से बाहर करने के फैसले पर पहुंचे। वॉ ने इंग्लैंड के पूर्व कप्तान माइक एथर्टन के साथ स्कोई स्पो‌र्ट्स पर बातचीत के दौरान कहा, कप्तान के रूप में वेस्टइंडीज का यह मेरा पहला दौरा था। एक कप्तान के रूप में आपसे मुश्किल फैसले लेने की उम्मीद की जाती है।

पूर्व पाकिस्तानी विकेटकीपर का भारतीय दिग्गज पर आरोप, यूनिस के प्लावर की गर्दन पर चाकू रखने के पीछे उनका हाथ !

वॉ ने कहा कि उन दिनों, जब आप दौरे पर होते थे तो दो खिलाड़ी और कोच, टीम को चुनती थी। चयनकर्ताओं का इससे कोई लेना-देना नहीं था। पूर्व कप्तान ने कहा कि वॉर्न, एक कंधे की सर्जरी से ठीक होकर वापस आए थे। मुझे लगता है कि उन्हें टीम में भी जल्दी वापस लाया गया था। हमारे पास स्टुअर्ट मैकगिल थे, जो पिछले टेस्ट मैच में गेंद को उसी तरह से घुमा रहे थे।

विंडीज दौरे पर ब्रायन लारा स्पिनरों को अच्छे से खेल रहा था, इसलिए मुझे लगा कि यह सही फैसला है। बिना वॉर्न के उतरी उस सीरीज में ऑस्ट्रेलियाई टीम को 2-2 से ड्रॉ खेलना पड़ा था।

 

Posted By: Viplove Kumar

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस