अबू धाबी, पीटीआइ। ऑस्ट्रेलिया के पूर्व कप्तान स्टीव स्मिथ ने जैव-सुरक्षित वातावरण (bio-bubble) में अधिक समय बिताने से बचने के लिए आगामी बिग बैश लीग से खुद को बाहर कर लिया है। स्मिथ सहित स्टार ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेटर अगस्त से बायो-बबल में रह रहे हैं, जब उन्होंने सितंबर में आइपीएल के बायो सिक्योर बबल में पहुंचने से पहले इंग्लैंड का दौरा किया था। इसके बाद ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ियों को भारत के खिलाफ तीनों फॉर्मेट की सीरीज भी खेलनी हैं।

स्टीव स्मिथ ने न्यूज कॉर्प से बात करते हुए कहा, "मैं पूरी ईमानदारी से कह रहा हूं कि निश्चित रूप से इस बार बीबीएल खेलना का कोई प्लान नहीं है।" स्मिथ ने कहा है कि जो शख्स अगस्त से घर से दूर है। उसके लिए दिमागी तौर पर भी बहुत कठिन काम है। स्मिथ के साथी खिलाड़ी डेविड वार्नर और पैट कमिंस भी बीबीएल से किनारा कर सकते हैं, क्योंकि ये खिलाड़ी भी काफी समय से बायो-बबल में हैं। हालांकि, इससे ब्रॉडकास्टर नाराज हो सकते हैं।

आइपीएल में राजस्थान रॉयल्स की कप्तानी कर रहे स्मिथ ने कहा कि उन्होंने बायो बबल के प्रतिकूल प्रभाव को देखते हुए निर्णय लिया है, जिसमें उम्मीद से अधिक समय तक परिवार से दूर रहना शामिल है। स्मिथ ने कहा है, "बबल के साथ अभी भी शुरुआती दिन हैं। हम नहीं जानते कि यह कितने समय तक चलने वाला है। वहां अनिश्चितता है। यह सिर्फ कोचों, महाप्रबंधकों के साथ खुली बातचीत करने के बारे में है।"

दाएं हाथ के बल्लेबाज स्टीव स्मिथ ने कहा है कि खिलाड़ियों को दिमागी तौर पर भी स्वस्थ रहना होगा, क्योंकि बायो बबल में आपको सुविधाएं तो मिलती हैं, लेकिन एकांत होने की वजह से खिलाड़ी डिप्रेशन का शिकार हो सकते हैं। भले ही कुछ दिन का गैप मिले, लेकिन एक सीरीज से दूसरी सीरीज या फिर टूर्नामेंट के बीच में कुछ दिन खिलाड़ियों को रियायत दी जानी चाहिए।

Aus-vs-Ind

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस