नई दिल्ली, जेएनएन। विराट कोहली (Virat Kohli_ की कप्तानी में भारतीय क्रिकेट टीम (Indian cricket team) ने दक्षिण अफ्रीका का तीन मैचों की टेस्ट सीरीज में क्लीन स्वीप कर दिया था। ये पहला मौका था जब टीम इंडिया ने तीन मैचों की टेस्ट सीरीज में दक्षिण अफ्रीका का क्लीन स्वीप किया था। भारत दौरे पर मिली इस बार से दक्षिण अफ्रीका के टेस्ट कप्तान फॉफ डु प्लेसि (Faf Du Plessis) काफी निराश हैं। इसके अलावा वो लगातार टॉस गंवाने से भी काफी परेशान रहे। डुप्लेसि ने अब बताया कि भारत में टॉस की कितनी बड़ी भूमिका थी। 

डुप्लेसि ने कहा कि टेस्ट क्रिकेट में टॉस को खत्म कर देना चाहिेए। भारत के बारे में उन्होंने कहा कि उन्होंने हर मैच में टॉस जीता और पहले बल्लेबाजी की। वो हर मैच में 500 या उससे ज्यादा रन बनाते और जब अंधेरा हो जाता था तब पारी की धोषणा कर देते थे। हम अंधेरे में बल्लेबाजी के लिए आते और वो हमारे तीन विकेट चटका लेते थे। जब तीसरे दिन का खेल होता था तब हम पर दवाब होता था। हमें ऐसा लगा जैसे वो हर मैच में कॉपी-पेस्ट कर रहे हैं। अगर विदेशी दौरे पर टेस्ट से टॉस को हटा दिया जाए तो विदेशी टीमों को मौका मिलेगा। दक्षिण अफ्रीका में हमें कोई फर्क नहीं पड़ेगा क्योंकि हम वैसे भी हरी पिचों पर खेलते हैं। 

आपको बता दें कि दक्षिण अफ्रीका के क्पतान डुप्लेसि ने तीनों टेस्ट में टॉस गंवाया था। हालांकि तीसरे टेस्ट मैच में उन्होंने अपने साथ टेंबा बावुमा को टॉस के लिए मैदान पर साथ लेकर आए थे पर यहां पर भी उनकी किस्मत ने उनका साथ नहीं दिया और वो हार गए। वैसे भी दक्षिण अफ्रीका की टीम से कई बड़े खिलाड़ी रिटायर हो चुके हैं जिसका असर टीम पर देखा जा रहा है। एबी डिविलियर्स, हाशिम अमला, मोर्ने मोर्कल, डेल स्टेन जैसे स्टार खिलाड़ियों के नहीं रहने का असर टीम पर साफ देखा जा रहा है। 

Posted By: Sanjay Savern

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप