नई दिल्ली, आइएएनएस। साल 2007 में टी20 वर्ल्ड कप जीतने वाली भारतीय टीम के मैनेजर रहे लालचंद राजपूत ने एमएस धौनी और सौरव गांगुली की कप्तानी में समानता बताई है। राजपूत ने एमएस धौनी और सौरव गांगुली की कप्तानी की तारीफ की है। पूर्व भारतीय बल्लेबाज का मानना है कि सौरव गांगुली ने भारतीय क्रिकेट को बदलने का काम किया है और धौनी ने 2007 के बाद से उसी परंपरा को आगे बढ़ाने का काम किया है।

गांगुली को व्यापक स्तर पर खिलाड़ियों को मौका देने का श्रेय दिया जाता है और धौनी उनमें से एक थे, जिसने अंततः उन्हें 2005 में विशाखापट्टनम टेस्ट में पाकिस्तान के खिलाफ मैराथन 148 स्कोर करने के लिए प्रेरित किया। राजपूत ने कहा कि धौनी भी उसी तरह की सोच रखते हैं और युवा खिलाड़ियों को मौका देते हैं, क्योंकि युवा खिलाड़ी को मौका मिलना और उनके अंदर विश्वास पैदा करना बड़ी बात होती है।

लालचंद राजपूत ने स्पोर्ट्सकीड़ा से बात करते हुए कहा है, "वह (गांगुली) खिलाड़ियों को बहुत आत्मविश्वास देते थे। गांगुली ही थे जिन्होंने भारतीय टीम की मानसिकता को बदल दिया और मुझे लगता है कि इसे धौनी ने ही आगे बढ़ाया ... अगर धौनी को लगता था कि किसी निश्चित खिलाड़ी में क्षमता है, तो उन्होंने सुनिश्चित किया कि उन्होंने उस खिलाड़ी को पर्याप्त मौके दिए।" क्रिकेट के तीनों प्रारूपों में कप्तानी करने से पहले धौनी ने सौरव गांगुली, राहुल द्रविड़ और अनिल कुंबले जैसे कई बड़े नाम वाले कप्तानों के अधीन खेला।

राजपूत ने कहा कि धौनी की कप्तानी शैली गांगुली और द्रविड़ दोनों के संयोजन की तरह लगती है। भारतीय टीम के पूर्व मैनेजर ने कहा है, "सच कहें तो वह बहुत शांत स्वभाव के थे। वह दो कदम आगे के बारे में सोचते थे, क्योंकि एक कप्तान को मैदान पर फैसला करना होता है। एक चीज जो मुझे उनके बारे में पसंद थी वह यह थी कि वह एक सोच वाले कप्तान थे। वह मुझे गांगुली और राहुल द्रविड़ के मिश्रण की तरह लग रहे थे। गांगुली बहुत आक्रामक और सकारात्मक सोच वाले कप्तान थे।"

एमएस धौनी को व्यापक रूप से टीम इंडिया का नेतृत्व करने वाले सबसे बेहतरीन कप्तानों में से एक माना जाता है। उनके नेतृत्व में भारतीय टीम ने दिसंबर 2009 में ICC टेस्ट रैंकिंग में नंबर 1 स्थान पर कब्जा कर लिया। इसके अलावा धौनी खेल के इतिहास में एकमात्र ऐसे कप्तान बने रहे, जिन्होंने अपनी टीम को तीन प्रमुख ICC खिताबों तक पहुंचाया - WT20 2007 (अब T20 वर्ल्ड कप), विश्व कप 2011 और चैंपियंस ट्रॉफी 2013।

Posted By: Vikash Gaur

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस