नई दिल्ली, जेएनएन। दाएं हाथ के बल्लेबाज शुभमन गिल मौजूदा समय में सबसे युवा टैलेंटेड खिलाड़ी हैं। पंजाब के सलामी बल्लेबाज शुभमन गिल को जब-जब मौका मिला है तो उन्होंने अपने हाथ दिखाए हैं। यहां तक कि वेस्टइंडीज में खेली गई पांच मैचों की अनाधिकारिक वनडे सीरीज में इंडिया ए की ओर से वेस्टइंडीज ए के खिलाफ शुभमन गिल ने सबसे ज्यादा रन बनाए हैं। 

इसी प्रदर्शन के दम पर शुभमन गिल विराट कोहली की कप्तानी वाली टीम में अपनी जगह तलाश रहे थे, लेकिन रविवार को मुंबई में हुई वेस्टइंडीज दौरे के लिए हुए टीम इंडिया के ऐलान के बाद शुभमन गिल को निराशा हाथ लगी। इसी साल टीम इंडिया के लिए वनडे क्रिकेट में डेब्यू करने वाले शुभमन गिल को अब अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में वापसी करने के लिए समय लगेगा। 

दरअसल, शुभमन गिल ने इसी साल न्यूजीलैंड के खिलाफ केएल राहुल के सस्पेंड होने के बाद टीम में स्थान हासिल किया था। हालांकि, वे दो मैचों में सिर्फ 16 रन बना पाए थे। चूंकि, शुभमन गिल टॉप ऑर्डर बैट्समैन हैं ऐसे में टीम इंडिया के मुख्य चयनकर्ता एमएसके प्रसाद ने भी रोहित शर्मा, शिखर धवन और केएल राहुल को टीम में चुना है। इस तरह शुभमन गिल की जगह टीम में बनती नहीं है। 

वेस्टइंडीज ए खिलाफ 3 अर्धशतकों के साथ 5 मैचों की सीरीज में 218 रन बनाकर मैन ऑफ द सीरीज रहने वाले शुभमन गिल ने कहा है, "मैं भारत की सीनियर टीम के ऐलान का इंतजार कर रहा था और मुझे लग रहा था शॉर्ट फॉर्मेट में किसी एक सीरीज के लिए टीम में मुझे जगह मिलेगी, लेकिन ऐसा नहीं हुआ। टीम में नहीं चुना जाना निराशा से भरा था, लेकिन मैं इस पर सोचकर समय बर्बाद नहीं करना चाहता। मैं आगे रन बनाता रहूंगा और अपने प्रदर्शन ने सलेक्टर्स को इम्प्रैश करता रहूंगा।"

शुभमन गिल ने आगे कहा, " मेरे लिए और हमारी टीम के लिए ये शानदार सीरीज थी, क्योंकि इंडिया ए ने इसे 4-1 के अंतर से जीता। निजी तौर पर मुझे लगता है कि जो तीन अर्धशतक थे उनमे से एक-दो को मुझे शतक तक ले जाना था। लेकिन, अब मैं इस दौरे पर बहुत कुछ सीखा जो आगे काम आएगा। 

Posted By: Vikash Gaur

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप