नई दिल्ली, आइएएनएस। पाकिस्तान के पूर्व तेज गेंदबाज शोएब अख्तर ने 2003 विश्व कप में भारत के खिलाफ मिली हार को अपने करियर का सबसे खराब मैच बताया है। भारत ने एक मार्च 2003 को दक्षिण अफ्रीका के सेंचुरियन में खेले गए विश्व कप के ग्रुप स्तर मैच में पाकिस्तान को छह विकेट से मात दी थी।

पाकिस्तान ने उस मैच में 274 रन का स्कोर बनाया था, जिसे भारत ने चार विकेट खोकर हासिल कर लिया था। अख्तर ने अपने यूट्यूब चैनल पर एक वीडियो पोस्ट किया है, जिसमें उन्होंने रहस्योद्घाटन किया है कि उनकी फिटनेस और वकार यूनुस की खराब कप्तानी के कारण पाकिस्तान को हार का सामना करना पड़ा।

अख्तर ने कहा कि सेंचुरियन में 2003 में भारत के खिलाफ खेला गया विश्व कप मैच मेरे पूरे करियर का सबसे निराशाजनक मैच था। शानदार गेंदबाजी होने के बावजूद हम 274 के स्कोर का बचाव नहीं कर पाए थे। अख्तर ने कहा कि मैच से एक रात पहले वह अपने घुटने की परेशानी से जूझ रहे थे और उन्हें मैदान पर खेलने के लिए घुटने में चार-पांच इंजेक्शन लेने पड़े थे। उन्होंने कहा कि इंजेक्शन की वजह से उनके घुटने में पानी भर गया था जिसे बार बार ड्रेन कर निकाला जा रहा था।

रावलपिंडी एक्सप्रेस के नाम से मशहूर अख्तर ने कहा कि हमारी पारी समाप्त होने के बाद मैंने कहा था कि पहले बल्लेबाजी करके हमने 30-40 रन कम किए हैं तो सभी खिलाड़ी मुझ पर भड़क गए थे। मेरे टीम साथियों ने कहा कि 273 रन पर्याप्त नहीं हैं तो फिर क्या है। उन्होंने कहा कि लेकिन सब कुछ भुलाकर हमने गेंदबाजी शुरू की, लेकिन मैं अपनी फिटनेस की वजह से गेंदबाजी नहीं कर पाया। आखिरी में मैंने सचिन तेंदुलकर को शतक बनाने से पहले आउट किया, उस वक्त मैंने सचिन को बाउंसर डाला, तब मुझे यह लगा कि मुझे पहले ही इस तरह की गेंद सचिन को करनी चाहिए थी।

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Vikash Gaur

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप