(मोहिंदर अमरनाथ का कॉलम)

पिछले कुछ सत्रों में भारत ने उलटफेर होने के बाद मजबूती से वापसी की है और राजकोट में यह अलग नहीं था। भारत ने सीरीज में 1-1 से बराबरी पा ली है, जिसमें एक शानदार गेंदबाजी प्रदर्शन के साथ रोहित शर्मा की मास्टर क्लास बल्लेबाजी भी शामिल है।

कप्तान रोहित अभी शानदार फॉर्म में हैं। मुझे लगता है कि उनके तीनों प्रारूपों में मौजूदगी ने उनके प्रदर्शन में स्थिरता और निरंतरता को जोड़ा है। मुझे पहले आश्चर्य होता था जब रोहित टेस्ट टीम का हिस्सा नहीं होते थे, लेकिन टेस्ट में एक सलामी बल्लेबाज के तौर पर उन्हें शामिल करके उनके खेल में एक नया आयाम आया है। मुझे उम्मीद है कि वह टेस्ट में अपने अच्छे फॉर्म को जारी रखेंगे और रोहित जानते हैं कि समय आने पर वह वीरेंद्र सहवाग की तरह ओपनर बन सकते हैं।

बांग्लादेश की टीम के पास पिछले मैच में अच्छी शुरुआत करने के बाद एक बड़ा स्कोर खड़ा करने का शानदार मौका था, लेकिन वह इसका फायदा नहीं उठा पाए और टीम को हार के साथ इसकी कीमत चुकानी पड़ी। राजकोट का विकेट बल्लेबाजों के लिए मददगार था और मेजबानों को रोकने के लिए 170 का स्कोर अच्छा होता और कम स्कोर को भारतीय टीम ने लगभग 16 ओवर में ही हासिल कर लिया। रोहित शतक से चूकने से निराश दिखे, लेकिन उनके दमदार शॉटों ने सभी का दिल जीत लिया।

सीरीज के आखिरी मैच के लिए भारत नागपुर में खेलेगा। वे एक संतुलित टीम की तरफ देख रहे हैं। शिखर धवन और रोहित शर्मा की सलामी जोड़ी से नागपुर में अच्छे प्रदर्शन की आस है। वे किसी भी समय मैच का नतीजा बदल सकते हैं। बांग्लादेश के लिए शाकिब अल हसन के अनुभव को भरना एक बड़ा अंतर है और उसे मेहमानों के लिए भरना कठिन हो रहा है। बहुत से बल्लेबाजों ने अच्छी शुरुआत की, लेकिन फिर उन्होंने अपने विकेट गंवा दिए। मैं रविवार को वास्तव में शानदार मैच की उम्मीद देख रहा हूं।

 

Posted By: Sanjay Savern

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप