साउथैंप्टन, पीटीआइ। टीम इंडिया के ओपनर बल्लेबाज रोहित शर्मा का मानना है कि न्यूजीलैंड जैसी गुणवत्ता वाली टीम के खिलाफ चीजों को सरल और यथार्थवादी रखना भारतीय टीम के लिए वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप के फाइनल में जाने का रास्ता होना चाहिए, जिसका शुरुआती दिन पहले ही भारी बारिश की वजह से प्रभावित हो चुका है। इंग्लैंड में पहली बार टेस्ट क्रिकेट में ओपनिंग करने जा रहे रोहित शर्मा न्यूजीलैंड के आक्रमण से निपटने के लिए भी आश्वस्त हैं, क्योंकि उन्होंने छोटे प्रारूपों में इसका पर्याप्त सामना किया है।

स्टार स्पोर्ट्स के बात करते हुए रोहित शर्मा ने कहा कि, मैंने कीवी गेंदबाजों का सामना किया है और उनकी कमजोरी व खूबी के बारे में अच्छे से जानता हूं। ये सब इस बात पर निर्भर करेगा कि परिस्थितियां क्या हैं, टीम किस तरह की स्थिति में है, हम पहले बल्लेबाजी कर रहे हैं या बाद में। विश्व टेस्ट चैंपियनशिप में 1000 से अधिक रन बनाने वाले इस सीनियर सलामी बल्लेबाज ने कहा, "ये सब मायने रखता है और ये महत्वपूर्ण है कि अधिक न सोचें। एक बेहद शानदार व टैलेंटेड टीम के खिलाफ, चीजों को सरल और यथार्थवादी रखना भी बहुत महत्वपूर्ण है।

रोहित शर्मा सफेद गेंद के सुपरस्टार खिलाड़ी हैं, लेकिन उन्हें टेस्ट क्रिकेट को काफी पसंद करते हैं साथ ही इस प्रारूप में जो चुनौतियां मिलती है वो कमाल की होती हैं। उन्होंने कहा कि, आपको पांच दिनों के लिए चुनौती दी जाती है और जो मुझे लगता है कि कहीं भी ऐसा नहीं होता है। हर दिन एक अलग चुनौती लाता है, एक लंबा खेल जिसमें धैर्य की आवश्यकता होती है, आप विभिन्न परिस्थितियों में खेलते हैं और यह आसान तो बिल्कुल भी नहीं है। रोहित शर्मा ने कहा कि, टेस्ट मैच के दौरान आपको पांचों दिन खुद को मानिसक तौर पर फ्रेश रहना चाहिए जिससे कि आप मैदान पर सही फैसले कर सकें। यही नहीं शारीरिक रूप से आपको उन चुनौतियों को स्वीकार करने और उनसे पार पाने के लिए फिट रहने की जरूरत है। 

Edited By: Sanjay Savern