धर्मशाला, जेएनएन। भारत और श्रीलंका के बीच पहले वनडे में धर्मशाला की तेज गेंदबाजों के लिए मददगार पिच पर भारतीय बल्लेबाजी बुरी तरह लड़खड़ा गई। मैच के बाद कप्तान रोहित शर्मा ने कहा कि श्रीलंका के खिलाफ यह प्रदर्शन मेजबान टीम के लिए आंखें खोलने वाला है। 

रोहित ने कहा, 'हमारी टीम की बल्लेबाजी अच्छी नहीं थी। अगर हमारे खाते में 70-80 रन और होते तो हालात अलग होते। यह मैच हमारे लिए आंखें खोलने वाला है।' इस मैच में कम स्कोर के चलते भारतीय टीम को सात विकेट से करारी मात का सामना करना पड़ा था। इसके साथ ही टीम इंडिया का आइसीसी की वनडे रैंकिंग में नंबर 1 के पायदान पर पहुंचने का सपना भी टूट गया। भारत को नंबर 1 के पायदान पर पहुंचने के लिए श्रीलंका को तीनों वनडे मैचों में हराना था।

भारतीय टीम श्रीलंका के खिलाफ पहले मैच में सिर्फ 112 रनों पर सिमट गई, जिसमें पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धौनी ने अर्धशतक जड़ा। रोहित ने कहा कि वह धौनी के प्रदर्शन से हैरान नहीं हैं। उन्होंने कहा, 'धौनी को अच्छी तरह पता है कि इन परिस्थितियों में कैसा प्रदर्शन करना है। अगर कोई उनके साथ बल्लेबाजी करता रहता तो बहुत अंतर पड़ता।' 

उन्होंने कहा, 'यह (मैच हारना) अच्छा नहीं रहा। कोई भी ऐसा नहीं चाहता। हमें बाकी बचे दो मैचों में वापसी के बारे में सोचना होगा।' 

वहीं, इस जीत के बाद श्रीलंकाई कप्तान तिषारा परेरा ने कहा, 'हमें श्रेय अपने गेंदबाजों को देना होगा। उन्होंने सही जगह और सही लेंथ पर गेंदबाजी की। गेंदबाजों का अनुशासन ही हमारी जीत का मुख्य आधार रहा। इस विकेट पर खेलना नामुमकिन था। हमें ऐसे विकेट की उम्मीद नहीं थी। पहले हमें 250-260 रनों की उम्मीद थी, लेकिन गेंदबाजी के दौरान हमें अहसास हुआ कि अगर हम भारत को 220 से कम के स्कोर पर रोक लेते हैं तो यह उपलब्धि होगी।'

क्रिकेट की खबरों के लिए यहां क्लिक करें

अन्य खेलों की खबरों के लिए यहां क्लिक करें

Posted By: Bharat Singh

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप