नई दिल्ली, जेएनएन। भारत व इंग्लैंड के बीच खेले जा रहे चौथे टेस्ट मैच के दूसरे दिन रिषभ पंत की बल्लेबाजी सबसे बड़ा आर्कषण रही। मैच के दूसरे दिन रिषभ पंत ने धमाकेदार शतकीय पारी खेलते हुए टीम इंडिया को शानदार तरीके से संभाला और उसका नतीजा ये रहा कि, भारत को दूसरे दिन का खेल खत्म होने तक 89 रन की अहम बढ़त मिल गई। रिषभ पंत ने दूसरे दिन का खेल खत्म होने के बाद बताया कि, आखिरकार वो क्यों इतनी शानदार पारी खेलने में कामयाब रहे। 

रिषभ पंत ने कहा कि, हमारा सीधा प्लान था कि हमें पार्टनशिप बिल्ड करनी है जब मैंने मैदान पर रोहित शर्मा के साथ बल्लेबाजी शुरू की। अच्छी साझेदारी करने की एकमात्र बात मेरे दिमाग में चल रही थी। मैंने सोचा था कि, पहले पिच का आकलन अच्छी तरह से करूंगा और उसके बाद अपने शॉट्स खेलूंगा। अगर गेंदबाज अच्छी गेंदबाजी करते हैं तो उसका सम्मान करना है और सिर्फ सिंगल लेना है और ये बात भी मेरे दिमाग में थी। 

उन्होंने कहा कि, मैं परिस्थिति के मुताबिक खेलना पसंद करता हूं, पहले गेंद देखता हूं और फिर रिएक्ट करता हूं और यही मेरे खेल का यूपीएस (यूनिक सेलिंग प्वाइंट) है। टीम की योजना थी कि, पहले हमें इंग्लैंड के टोटल को पार करना है यानी 206 रन बनाने हैं और फिर जितना संभव हो सके उतने रन बनाने हैं। उन्होंने कहा कि, अगर आप रिवर्स-फ्लिक करना चाहते हैं और किस्मत आपके साथ है तो आप चांस ले सकते हैं। मेरे पास काफी मौके थे, लेकिन मुझे कंडीशन का आकलन करते हुए खेलना था। मैं टीम को जीत दिलाना चाहता हूं और मेरे खेल से फैंस का मनोरंजन होता है तो मैं इससे खुश हूं। आपको बता दें कि रिषभ पंत ने 118 गेंदों का सामना करते हुए 2 छक्के व 13 चौकों की मदद से 101 रन बनाए। 

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप