नई दिल्ली, जेएनएन। भारतीय क्रिकेट टीम (Indian cricket team) के युवा विकेटकीपर-बल्लेबाज रिषभ पंत (Rishabh Pant) की कोशिश इन दिनों यही है कि वो अपने खराब फॉर्म से उबरकर टीम के लिए अच्छा प्रदर्शन करें और उनकी ये कोशिश रंग भी ला रही है। उन्होंने पिछले मैच में वेस्टइंडीज के खिलाफ नाबाद 33 रन की पारी खेली और पहले मैच में 9 गेंदों पर 18 रन बनाए थे। विकेट के पीछे भी वो विकेटकीपिंग में सुधार करने की पूरी कोशिश कर रहे हैं। हालांकि रिषभ को अब भी आलोचनाओं का सामना करना पड़ रहा है और फील्ड में दर्शक उनका मजाक धौनी का नाम लेकर अभी भी बना रहे हैं, पर इन सब बातों के बीच उन्हें ब्रायन लारा का साथ मिला है। 

ब्रायन लारा ने रिषभ पंत के बारे में कहा कि इस युवा खिलाड़ी पर बेवजह इतना दवाब बनाया जा रहा है। उन्हें पूरी तरह से परिपक्व होने के लिए थोड़ा समय देने की जरूरत है। MS Dhoni से रिषभ पंत की तुलना के बारे में बात करते हुए लारा ने कहा कि ये युवा खिलाड़ी धौनी से बिल्कुल अलग है। उन्हें और ज्यादा निखरने के लिए समय दिए जाने की आवश्यकता है। 

लारा ने एक टीवी कार्यक्रम के दौरान कहा कि पंत ने जब इंटरनेशनल क्रिकेट में एंट्री की थी तब उन्होंने काफी उम्मीदें जगाई थी। उनके खेल में काफी आक्रामकता है और भारतीय क्रिकेट फैंस ने ये उम्मीद है कि वो तुरंत ही माही का विकल्प बन सकते हैं। उन्होंने कहा कि अगले टी 20 विश्व कप में अभी थोड़ा वक्त है और हो सकता है कि टीम इंडिया को इस अहम टूर्नामेंट में किसी अन्य विकेटकीपर के साथ जाना पड़े, लेकिन इन सब बातों के बावजूद पंत पर ज्यादा दवाब बनाना सही नहीं है। 

मैदान पर विराट कोहली ने दर्शकों से कई बार पंत का हौसला बढ़ाने की अपील की है और लारा विराट के इस बात से पूरी तरह से सहमत हैं। उन्होंने कहा कि इस बात पर मैं विराट के साथ हूं और पंत को सपोर्ट की पूरी जरूरत है। लारा ने अपनी टीम यानी वेस्टइंडीज का उदाहरण देते हुए कहा कि 30 साल पहले वेस्टइंडीज की टीम में कई महान खिलाड़ी थे, लेकिन कुछ ऐसे भी थे जिनका प्रदर्शन ज्यादा अच्छा नहीं था। इसके बावजूद उन्हें टीम में बनाए रखा गया क्योंकि टीम शानदार प्रदर्शन कर रही थी। आप लोगों ने कार्ल हूपर और गस लॉगी के बारे में ज्यादा नहीं सुना होगा क्योंकि उस वक्त वो ज्यादा अच्छा नहीं खेल रहे थे। उन्हें पूरी तरह से परिपक्व होने के लिए पूरा वक्त दिया गया। इस तरह से मुझे लगता है कि रिषभ पंत को भी पूरा मौका दिए जाने की जरूरत है जिसके कि वो पूरी तरह से तैयार हो सकें और टीम के लिए अच्छा प्रदर्शन कर सकें। 

Posted By: Sanjay Savern

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस